News Nation Logo

एयरफोर्स के विंग कमांडर ने गृह मंत्री अमित शाह बनकर राज्यपाल को किया फोन, आगे हुआ कुछ ऐसा

मध्यप्रदेश पुलिस की एसटीएफ ने शुक्रवार को भारतीय वायु सेना के एक विंग कमांडर और उसके एक डॉक्टर मित्र को गिरफ्तार किया है.

Bhasha | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 11 Jan 2020, 07:37:13 AM
IAF के विंग कमांडर ने गृहमंत्री अमित शाह बन राज्यपाल को किया फोन और...

IAF के विंग कमांडर ने गृहमंत्री अमित शाह बन राज्यपाल को किया फोन और... (Photo Credit: फाइल फोटो)

भोपाल:

मध्यप्रदेश पुलिस की एसटीएफ ने शुक्रवार को भारतीय वायु सेना के एक विंग कमांडर और उसके एक डॉक्टर मित्र को गिरफ्तार किया है. विंग कमांडर ने अपने डॉक्टर मित्र को प्रदेश के चिकित्सा विश्वविद्यालय में कुलपति नियुक्त कराने के लिए राज्यपाल को कथित तौर पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के रूप में फोन किया था. आरोपी विंग कमांडर की पहचान कुलदीप वाघेला के रूप में हुई है. वाघेला फिलहाल भारतीय वायु सेना के मुख्यालय, दिल्ली में पदस्थ हैं जबकि उनके मित्र चंद्रेश कुमार शुक्ला भोपाल के निवासी हैं.

यह भी पढ़ेंः भोपाल में नामी गुटखा कंपनियों पर EOW का छापा, माल में मिलावट और करोड़ों की टैक्स चोरी

मध्यप्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक अवस्थी ने बताया कि हमने विंग कमांडर कुलदीप वाघेला और उनके एक दंत चिकित्सक मित्र डॉ. चंद्रेश कुमार शुक्ला को गिरफ्तार किया है. वाघेला ने शुक्ला को कुलपति नियुक्त करने के लिये राज्यपाल को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के रुप में फोन कर सिफारिश की थी. उन्होंने बताया कि दोनों की आयु 35 से 40 वर्ष के बीच है. अवस्थी ने बताया कि वाघेला पूर्व में मध्यप्रदेश के राज्यपाल राम नरेश यादव के कार्यकाल में तीन वर्ष तक उनके एडीसी 'परिसहाय' के रूप में यहां राजभवन में पदस्थ रह चुके हैं.

उन्होंने बताया कि भोपाल के डेंटिस्ट चंद्रेश कुमार शुक्ला जबलपुर स्थित प्रदेश के चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति पद के इच्छुक थे और उन्होंने इसके लिये आवेदन किया था. शुक्ला का तीन जनवरी को इसके लिये साक्षात्कार हो चुका था. एडीजी ने बताया कि शुक्ला ने अपने मित्र वाघेला को बताया कि वह कुलपति बनना चाहते हैं और कोई वरिष्ठ नेता उनके नाम की सिफारिश राज्यपाल से करे तो यह काम हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः यहां Free मिल रहे हैं फिल्म 'छपाक' और 'तानाजी' के टिकट, देखने में न करें देरी

अवस्थी ने बताया कि इसके बाद दोनों दोस्तों साजिश रची और वाघेला ने गृह मंत्री अमित शाह बनकर राज्यपाल को फोन पर बात कर शुक्ला को कुलपति बनाने की सिफारिश की. इस फोन कॉल में डॉक्टर शुक्ला ने केन्द्रीय गृह मंत्री शाह के पीए के रुप में बात की. उन्होंने बताया कि इस फोन कॉल के बाद राजभवन के अधिकारियों को संदेह हुआ और इसकी जांच एसटीएफ को सौंपी गई. एसटीएफ की जांच में इस धोखधड़ी का खुलासा हुआ और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि एसटीएफ मामले में वाघेला और शुक्ला से पूछताछ कर रही है.

First Published : 11 Jan 2020, 07:37:13 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो