logo-image
लोकसभा चुनाव

झारखंड सरकार द्वारा BPL कार्डधारकों को दी जानी थी सब्सिडी, लोग नहीं ले रहे लाभ

केंद्र सरकार द्वारा बीते 22 मई से एक्साइज ड्यूटी को घटाते हुए पेट्रोल में ₹8 रुपये  और डीजल में ₹6 घटाने का ऐलान किया था, उसके पहले भी 2021 दीपावली के समय भी केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटाया था.

Updated on: 23 Jul 2022, 01:55 PM

Ranchi:

केंद्र सरकार द्वारा बीते 22 मई से एक्साइज ड्यूटी को घटाते हुए पेट्रोल में ₹8 रुपये  और डीजल में ₹6 घटाने का ऐलान किया था, उसके पहले भी 2021 दीपावली के समय भी केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटाया था. जिससे झारखंड सरकार पर भी लोगों ने दबाव बनाना शुरू किया कि आप भी वेट टेक्स घटाए. झारखंड सरकार सीधे तौर पर आम लोगों को राहत ना देकर बीपीएल कार्डधारियों को ₹25 प्रति लीटर की सब्सिडी देने की बात की थी.

आंकड़ों के अनुसार कोडरमा जिले में सब्सिडी के लिए जनवरी 2022 में 3172 आवेदन आए थे, जिसमें 2565 आवेदन स्वीकृत हुए. फरवरी में 643 में से 304 आवेदन स्वीकृत हुए जिसमें से 160 आवेदन दोबारा रजिस्ट्रट किये गए. मार्च की बात करें तो टोटल आवेदन 142 आए थे जिसमें 131 स्वीकृत किए गए. अप्रैल में सब्सिडी के लिए 128 आवेदन आए थे जिसमें 121 स्वीकृत हुए, मई में 61 आवेदन आए थे जिसमें से एक भी आवेदन स्वीकृत नहीं हुए. वहीं जून की बात करें तो टोटल 47 आवेदन आए थे जिसमें से केवल 37 आवेदन स्वीकृत किए गए.

ज्ञात रहे कि जिले में लाल और पीला कार्डधारी की संख्या 107580 है तो वहीं हरे कार्डधारियों की संख्या 9777 है। यह आंकड़े बताते हैं कि लोगों में सब्सिडी को लेकर भी उदासीनता है. इस संबंध में बीपीएल कार्डधारियों से बात करने पर पता चला कि सरकार द्वारा दी जाने वाली पेट्रोल सब्सिडी की प्रक्रिया काफी जटिल है, जिसकी वजह से लोग इस पचड़े में नहीं पड़ना चाहते हैं. एक बीपीएल कार्ड धारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि मैं महीने का 25 से 30 लीटर तेल भरवाता हूं, ऐसे में मेरी सब्सिडी ₹750 तक की बनती है, लेकिन सरकार की जटिल प्रक्रिया की वजह से मैं यह सब्सिडी लेना उचित नहीं समझता. ऐसे में आप कह सकते हैं कि झारखंड सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी लोगों के लिए थाली का चांद साबित हो रहा है.