News Nation Logo

नकल की जांच के लिए कपड़े उतारे जाने पर आत्मदाह करने वाली छात्रा की मौत

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 21 Oct 2022, 01:11:25 PM
Hurt by

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

जमशेदपुर:  

झारखंड में स्कूल की टर्मिनल परीक्षा के दौरान नकल के संदेह में कपड़े खुलवाकर जांच किये जाने से आहत होकर आत्मदाह करने वाली छात्रा ऋतु मुखी ने गुरुवार रात दम तोड़ दिया. जमशेदपुर के शारदामणि गर्ल्स स्कूल की नौवीं की छात्रा ने बीते 14 अक्टूबर को स्कूल से घर लौटने के बाद खुद पर केरोसिन उड़ेलकर आग लगा ली थी. उसका इलाज जमशेदपुर के टाटा मेन्स हॉस्पिटल में चल रहा था. छात्रा की मौत से स्थानीय लोग गुस्से में हैं. तनाव को देखते हुए जिला प्रशासन ने हॉस्पिटल से लेकर अंत्येष्टि स्थल पर सुरक्षा बलों की तैनाती की है. अंत्येष्टि शुक्रवार को दोपहर की जाएगी.

जमशेदपुर की उपायुक्त विजया जाधव छात्रा की मौत की खबर मिलने पर टाटा मेन्स हॉस्पिटल पहुंचीं. रात में ही मेडिकल बोर्ड गठित कर छात्रा के शव का पोस्टमार्टम करा लिया गया. इस घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संज्ञान लेते हुए उपायुक्त को पीड़ित परिवार को हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने और छात्रा के बेहतर इलाज का निर्देश दिया था.

इस बीच नकल की जांच के नाम पर छात्रा के कपड़े उतरवाने वाली शिक्षिका चंद्रा दास को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. स्कूल की प्रिंसिपल गीता रानी महतो को निलंबित किया जा चुका है.

छात्रा के बयान के मुताबिक स्कूल की टर्मिनल परीक्षा के दौरान शिक्षिका चंद्रा दास ने उसे चिटिंग के आरोप में पकड़ा. सबके सामने उन्होंने थप्पड़ मारा. विरोध के बावजूद उन्होंने सभी के सामने कपड़े उतरवाकर उसकी तलाशी ली. उसके पास से कोई चिट नहीं मिली, लेकिन उसे प्रिंसिपल के कमरे में ले जाया गया. इस घटना से वह अपमानित और शर्मिदा महसूस कर रही थी. इसलिए उसने शाम में स्कूल से घर लौटने के बाद अपनी बहनों को पड़ोसी के घर भेजकर खुद को आग लगा ली. उसकी चीख सुनकर परिवार और पड़ोस के लोग दौड़े. लपटों से घिरी छात्रा पर पानी डालकर आग बुझाई गई. इसके बाद उसे गंभीर हालत में टाटा मेन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

First Published : 21 Oct 2022, 01:11:25 PM

For all the Latest States News, Jharkhand News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.