logo-image
लोकसभा चुनाव

बीजेपी की संकल्प यात्रा पर सियासत तेज, 28 अक्टूबर को समापन

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी की संकल्प यात्रा अब अंतिम पड़ाव पर है. 28 अक्टूबर को रांची के हरमू मैदान में यात्रा का समापन कार्यक्रम होगा.

Updated on: 25 Oct 2023, 03:18 PM

highlights

  • बीजेपी की संकल्प यात्रा पर तेज सियासत
  • 28 अक्टूबर को होगा यात्रा का समापन
  • कार्यक्रम में शामिल होंगे पार्टी के दिग्गज

Ranchi:

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी की संकल्प यात्रा अब अंतिम पड़ाव पर है. 28 अक्टूबर को रांची के हरमू मैदान में यात्रा का समापन कार्यक्रम होगा. 17 अगस्त 2023 से शुरू हुई ये यात्रा राज्य सरकार की विफलताओं और भ्रष्टाचार के खिलाफ निकाली गई थी. जिसके तहत बीजेपी ने हर विधानसभा क्षेत्रों में जाकर सरकार को घेरने और सीट को साधने का काम किया. बाबूलाल मरांडी ने इस दौरान राज्य के सभी 81 विधानसभा क्षेत्र में जाकर जनता से सीधा संवाद करने की कोशिश की है. अब जब ये यात्रा समापन की ओर से है, तो इस कार्यक्रम को भी भव्य बनाने की तैयारी में बीजेपी जुटी है. जानकारी के मुताबिक इस समापन कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्राध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- दुर्गापूजा की विदेशों में भी धूम, शिकागो से धनबाद आई महिला

बीजेपी की संकल्प यात्रा पर तेज सियासत

माना जा रहा है कि वो इस दौरान प्रदेश कार्यकर्ताओं को चुनावी मंत्र भी देंगे. कार्यक्रम का आयोजन रांची के हरमू मैदान में होना है, जहां कार्यक्रम में प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा जाएगा. अपराध, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और अवैध खनन जैसे मुद्दों को उठाया जाएगा. वहीं, कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप देने में बीजेपी जुटी है. जहां पार्टी इस संकल्प यात्रा को ऐतिहासिक बताते हुए आने वाले समय में इसका लाभ मिलने की उम्मीद जता रही है.

28 अक्टूबर को होगा यात्रा का समापन
 
एक तरफ बीजेपी कार्यक्रम की तैयारियों में जुटी है, तो वहीं दूसरी ओर इसपर सियासत तेज हो गई है. जहां कांग्रेस और JMM बीजेपी पर जमकर निशाना साध रह हैं. झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि जब बीजेपी ने संकल्प यात्रा की शुरुआत की थी, तो डुमरी उपचुनाव हारे थे. और जब यात्रा का समापन होगा तो पांचों राज्यों में होने वाले चुनाव में बीजेपी की हार होगी. वहीं, JMM का कहना है कि आगामी चुनाव में जनता बीजेपी का सूपड़ा साफ कर देगी. बहरहाल, कार्यक्रम पर वार-पलटवार का दौर जारी है, लेकिन किसकी यात्रा और किसके दावे सही साबित होते हैं. ये तो 2024 के चुनावी रण में ही पता चल पाएगा.