logo-image
लोकसभा चुनाव

बोकारो में जिला पुस्तकालय की बदहाली, जगह-जगह से टपक रहा पानी

बोकारो में कुछ दिनों पहले लाइब्रेरी का उद्घाटन किया गया था.

Updated on: 19 Sep 2022, 01:37 PM

Bokaro:

बोकारो में कुछ दिनों पहले लाइब्रेरी का उद्घाटन किया गया था. लाइब्रेरी बनने से स्थानीय लोगों को बड़ी उम्मीदें थी कि यहां के छात्रों को पढ़ने के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा, लेकिन लोगों की उम्मीदों पर उस समय पानी फिर गया जब हाल ही में बने इस लाइब्रेरी से पानी टपकने लगा. बोकारो में एक बार फिर शासन की पहल प्रशासन के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई. राम रूद्र प्लस टू स्कूल के परिसर में छात्रों के लिए लाइब्रेरी बनाई गई थी. इसका उद्देश्य था कि उन छात्रों के लिए सभी तरह की किताबों को उपलब्ध कराना जो प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हैं. 

हैरानी की बात तो ये है कि 30 अप्रैल को ही इस लाइब्रेरी का उद्घाटन हुआ था. उद्घाटन को 5 महीने भी नहीं हुए और लाइब्रेरी की दीवारों ने जवाब देना शुरू कर दिया. दीवारों पर जहां-जहां नजर जाती है. सीलन और पानी दिखाई देता है. हालांकि इस लाइब्रेरी में इतनी भर परेशानी नहीं है. यहां बिजली और पानी की समस्या तो शुरूआत से ही है. लाइब्रेरी में हर दिन 80 से ज्यादा छात्र पढ़ने आते हैं, लेकिन छात्रों के लिए न पानी है, न बिजली, जिसके चलते उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है. बिजली पानी की समस्या से जूझ रहे छात्रों के पास लाइब्रेरी के नाम पर जो चार दिवारी थी. अब वो भी कितने दिनों तक टिकी रहेगी कुछ कह नहीं सकते.

बोकारो में जिला लाइब्रेरी की ये तस्वीरें एक बार फिर भ्रष्टाचारी अधिकारियों की पोल खोलने के लिए काफी है. तस्वीरें गवाह है कि सिर्फ शासन मात्र के पहल से किसी भी इलाके का विकास तबतक नहीं हो सकता, जबतक प्रशासन के स्तर पर पूरी इमानदारी और जिम्मेदारी के साथ शासन की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाया जाए. बहरहाल अब इंतजार है कि लाइब्रेरी के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच हो और जिम्मेदार अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई हो.

रिपोर्ट : संजीव कुमार