logo-image
लोकसभा चुनाव

झारखंड में महिलाओं ने बना दिया अनोखा रिकॉर्ड, पुरुषों को पछाड़ पेश की मिसाल

देशभर में लोकसभा चुनाव का सातवां और अंतिम चरण संपन्न हो चुका है और अब लोगों को 4 जून को आने वाले नतीजों का इंतजार है. इस बीच, झारखंड में लोकसभा चुनाव के चारों चरणों के दौरान पुरुषों की तुलना में अधिक महिलाओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

Updated on: 03 Jun 2024, 01:48 PM

highlights

  • झारखंड में महिलाओं ने बना दिया अनोखा रिकॉर्ड
  • महिलाओं ने पुरुषों को पछाड़ पेश की मिसाल
  • 2019 के तुलना में 8 सीटों पर बढ़ा मतदान प्रतिशत

Ranchi:

Jharkhand Lok Sabha Elections 2024: देशभर में लोकसभा चुनाव का सातवां और अंतिम चरण संपन्न हो चुका है और अब लोगों को 4 जून को आने वाले नतीजों का इंतजार है. इस बीच, झारखंड में लोकसभा चुनाव के चारों चरणों के दौरान पुरुषों की तुलना में अधिक महिलाओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रवि कुमार ने यह जानकारी दी है. उन्होंने कहा, ''राज्य के 2.58 करोड़ में से 1.7 करोड़ मतदाताओं ने 244 उम्मीदवारों के चुनावी भाग्य का फैसला करने के लिए 14 लोकसभा सीटों पर वोट डाले. इन 1.7 करोड़ मतदाताओं में से 87.11 लाख महिलाएं और 83.85 लाख पुरुष थे. झारखंड में 13 मई से 1 जून तक चार चरणों के चुनाव में कुल मिलाकर 66.19 प्रतिशत मतदान हुआ. 12 लोकसभा सीटों पर महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत अधिक रहा.''

यह भी पढ़ें: झारखंड की 3 सीटों पर सुबह 11 बजे तक 29.55% हुई वोटिंग, राजमहल रहा सबसे आगे

झारखंड में बढ़-चढ़कर महिलाओं ने किया वोट

आपको बता दें कि रवि कुमार ने कहा कि रांची और जमशेदपुर लोकसभा सीटों पर मतदान केंद्रों पर आने वाले पुरुष मतदाताओं की संख्या महिलाओं से थोड़ी अधिक थी, लेकिन बाकी लोकसभा सीटों पर महिलाओं की संख्या अधिक थी. झारखंड में 14 लोकसभा सीटों के अंतर्गत 81 विधानसभा क्षेत्र आते हैं. विधानसभा क्षेत्रों के आंकड़ों पर गौर करें तो 68 विधानसभा क्षेत्रों में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा है, जबकि सिर्फ 13 विधानसभा सीटों पर वोट डालने वाले पुरुषों की संख्या ज्यादा रही. महिलाओं ने मतदान प्रक्रिया में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. 

2019 के तुलना में 8 सीटों पर बढ़ा मतदान प्रतिशत

आपको बता दें कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने महिलाओं के अधिक मतदान प्रतिशत का कारण घरों के पुरुष सदस्यों के पलायन को भी माना है. वहीं 2019 के चुनावों की तुलना में आठ लोकसभा सीटों पर मतदान प्रतिशत बढ़ा है, लेकिन छह अन्य निर्वाचन क्षेत्रों में गिरावट आई है. झारखंड में मतदान 13 मई को शुरू हुआ, जिसमें चार लोकसभा सीटों - सिंहभूम, खूंटी, लोहरदगा और पलामू - पर 66.01 प्रतिशत मतदान हुआ.

इसके अलावा आपको बता दें कि 20 मई को चतरा, कोडरमा और हजारीबाग लोकसभा सीट के लिए दूसरे चरण के मतदान में 64.39 फीसदी मतदान हुआ था. 25 मई को गिरिडीह, धनबाद, रांची और जमशेदपुर में 67.68 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि अंतिम चरण में एक जून को दुमका, राजमहल और गोड्डा लोकसभा सीटों पर 70.88 प्रतिशत मतदान हुआ था.