logo-image
लोकसभा चुनाव

जमीन घोटाले मामले में JMM नेता गिरफ्तार, ईडी का बड़ा एक्शन

झारखंड में ईडी लगातार कार्रवाई करती नजर आ रही है. ईडी ने बुधवार को जमीन घोटाला मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में जेएमएम नेता अंतू तिर्की भी शामिल हैं.

Updated on: 17 Apr 2024, 08:59 PM

highlights

  • झारखंड में ईडी का बड़ा एक्शन
  • जमीन घोटाले मामले में JMM नेता गिरफ्तार
  • हेमंत सोरेन से जुड़ा है मामले का तार

 

 

Ranchi:

झारखंड में ईडी लगातार कार्रवाई करती नजर आ रही है. ईडी ने बुधवार को जमीन घोटाला मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में जेएमएम नेता अंतू तिर्की भी शामिल हैं. ईडी ने जमीन के फर्जी डीड बनाने व अवैध जमीन पर कब्जा मामले को लेकर यह कार्रवाई की है. ईडी की यह छापेमारी करीब 13 घंटे तक चली, जिसके बाद चार लोगों को गिरफ्तार किया गया. सभी आरोपियों का मेडिकल टेस्ट कराया जाएगा, जिसके बाद उन्होंने कोर्ट में पेश किया जाएगा. बता दें कि ईडी की रडार पर जेएमएम नेता अंतू तिर्की, प्रियरंजन सहाय, विपिन सिंह और शेखर कुशवाहा लंबे समय से थे. ईडी की छापेमारी के दौरान इनके आवास से कई तरह के जरूरी दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं. इसके साथ ही जमीन से जुड़े कई सबूत मिले हैं. साथ ही पैसों के ट्रांजेक्शन की भी जानकारी ईडी के हाथ लगी है. इन सब सबूतों के आधार पर ईडी ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

झारखंड में ईडी का बड़ा एक्शन

आपको बता दें कि मंगलवार को ईडी की टीम ने राजधानी रांची के तुपुदाना, मोरहाबादी, बरियातू और पंडरा इलाके में छापेमारी की थी. इस दौरान सभी जगहों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए गए थे. वहीं, हाल ही में ईडी ने फर्जी दस्तावेज बनाने के पीछे के मास्टरमाइंट मो. सद्दाम को गिरफ्तार किया था और उसे रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ भी की. इस पूछताछ से मिली जानकारी के बाद ईडी ने यह कार्रवाई की. जानकारी के अनुसार, प्रदेश के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन पर चल रहे अवैध जमीन कब्जा मामले का तार इससे जोड़कर देखा जा रहा है. जमीन दलाल सद्दाम से पूछताछ के बाद एक बार फिर से ईडी ने नए सिरे से छापेमारी शुरू की है.

हेमंत सोरेन से जुड़ा है मामले का तार

बता दें कि 31 जनवरी को ईडी ने झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को गिरफ्तार किया था. करीब 7 घंटे की पूछताछ के बाद देर रात ईडी ने हेमंत सोरेन को न्यायिक हिरासत में लिया था. गिरफ्तारी से पहले सोरेन ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया था. फिलहाल सोरेन रांची के होटवार की बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में बंद हैं.