logo-image
लोकसभा चुनाव

इरफान अंसारी की बढ़ी मुश्किलें, हेमंत सोरेन को 'राम' तो कल्पना सोरेन को बताया 'मां सीता'

झारखंड में चौथे चरण के साथ मतदान शुरू हो चुका है. इस बीच पक्ष-विपक्ष एक-दूसरे पर जुबानी हमला करने का एक मौका नहीं छोड़ रहे. वहीं, अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी एक बार फिर खबरों में हैं.

Updated on: 19 May 2024, 03:16 PM

highlights

  • कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी की बढ़ी मुश्किलें
  • इरफान अंसारी के खिलाफ भाजपा पहुंची चुनाव आयोग
  • धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

Giridih:

झारखंड में चौथे चरण के साथ मतदान शुरू हो चुका है. इस बीच पक्ष-विपक्ष एक-दूसरे पर जुबानी हमला करने का एक मौका नहीं छोड़ रहे. वहीं, अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी एक बार फिर खबरों में हैं. इस बार तो इरफान अंसारी ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को असली राम और उनकी पत्नी कल्पना सोरेन को मां सीता व मां दुर्गा का अवतार बता दिया है. जिस पर भाजपा के नेताओं ने आपत्ति जताते हुए उन्हें हिदायत तक दे दी है. इतना ही नहीं अब भाजपा के लोगों ने धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने व समाज में धार्मिक उन्माद फैलान के संदर्भ में इरफान अंसारी के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंच चुके हैं. साथ ही चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि इरफान अंसारी को लोकसभा चुनाव प्रचार प्रसार से दूर कर दिया जाए. वहीं, कांग्रेस सांसद के खिलाफ तत्काल प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तारी की भी मांग की गई है.

यह भी पढ़ें- फिर बदलने वाला है झारखंड के मौसम का मूड, इन जिलों के लोग रहें सावधान

भाजपा का लिखा पत्र- 

सेवा में
मुख्य चुनाव आयुक्त.
नई दिल्ली।
विषयः- जामताडा विधायक इरफान अन्सारी के द्वारा लोकसमा चुनाव 2024 के दौरान धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाने एवं समाज में धार्मिक उन्माद फैलाने के संदर्भ में।
महाशय,
विदित हो कि 16 मार्च, 2024 को लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा हो चुकी है। जामताड़ा के वर्तमान कांग्रेस विधायक इरफान अन्सारी द्वारा लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान न सिर्फ धार्मिक आस्था पर ठेस पहुँचाया जा रहा है बल्कि मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम के विरूद्ध एवं उनकी तुलना जेल में बन्द पूर्व मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से कर धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाया है। जिससे सनातन धर्म को मानने वाले लोगों को घोर आघात तो पहुँचाया ही है और साथ ही सामाजिक सौहार्द को भी बिगाड़ने का हर संभव प्रयास किया गया है। जामताड़ा विधायक श्री इरफान अन्सारी ने अपने एक्स हैण्डल पर यह पोस्ट किया है की 'नकली रामभक्तों ने मेरे असली राम को जेल में बंद कर दिया। मेरी भाभी सीता माँ दुर्गा की अवतार @bjpjhark को जला कर भस्म कर देगी। साथ में उनका हनुमान कदम से कदम मिलाकर रावण की लंका को जला कर राख कर दूंगा। लोगों से अपील किया की सीता मां के एक एक आंसू का बदला लें और राम जी को सही सलामत वापस ।
उक्त घटना न सिर्फ प्रभु श्रीराम को मानने वाले पर आधात है बल्कि वर्तमान में देशभर में लागू आदर्श आचार संहिता का भी उल्लंघन है। गौरतलब है की 20 तारीख को गाण्डेय विधानसभा का उपचुनाव भी है और गाण्डेय विधानसभा से पूर्व मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन की पत्नी श्रीमती कल्पना सोरेन महागठबंधन की उम्मीदवार भी हैं।
अतः श्रीमान से विनम्र निवेदन है कि उक्त तथ्यों के आलोक में जामताड़ा विधायक इरफान अन्सारी के विरूद्ध अविलम्ब कार्रवाई की जाए एवं उन्हें पूरे चुनाव प्रचार प्रसार से दूर रहने का आदेश देने की कृपा करें।

अंसारी का विवादास्पद बयान

दरअसल, जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने शुक्रवार को गांडेय विधानसभा उपचुनाव की प्रत्याशी कल्पना सोरेन के समर्थन में चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन से मुलाकात की एक तस्वीर अपने सोशल मीडिया हैंडल एक्स पर शेयर करते हुए लिखा कि नकली राम भक्तों ने मेरे असली राम को जेल में बंद कर दिया. इसके साथ ही उन्होंने कल्पना सोरेन की तुलना मां दुर्गा व मां सीता से की. जब इसका विरोध हुआ तो इरफान अंसारी ने ट्वीट कर लिखा कि जी को भगवान राम की तरह समझा भाभी कल्पना को दुर्गा रूपी अवतार की तरह समझा तो कोई पाप नहीं किया. आज पता चला बीजेपी के लोग आदिवासियों के कितने दुश्मन है.