logo-image
लोकसभा चुनाव

नक्सल इलाके से हुई सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की शुरुआत

'आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार' कार्यक्रम का आगाज झारखंड और जिले के अंतिम गांव अति नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में विख्यात बूढ़ा पहाड़ के तराई से शुरू हो रही है.

Updated on: 12 Oct 2022, 06:02 PM

Garhwa:

झारखंड के हेमंत सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने पर गढ़वा जिला प्रशासन खास तैयारी में जुट गई है. 'आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार' कार्यक्रम का आगाज झारखंड और जिले के अंतिम गांव अति नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में विख्यात बूढ़ा पहाड़ के तराई से शुरू हो रही है. सरकारी अमला आजादी के पहली बार इस जगह पर पहुंच कर अंतिम व्यक्ति तक योजना का लाभ पहुंचाने की कवायद में जुट गई है. जिला मुख्यालय से लगभग 130 किलोमीटर की दूरी तय कर आज जिले के अधिकारी उस गांव में पहुंचे, जहां एक माह पहले तक भाकपा माओवादियों का कब्जा था. आज बूढ़ा पहाड़ आजाद हुआ तो जिला प्रशासन इस जगह पर अब विकास की बयार बहाना चाहती है. सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने पर डीसी गढ़वा ने बढगढ के खपरी महुआ के इस विद्यालय परिसर में सरकार की योजनाओं से इस आदिम जनजाति के ग्रामीणों को रूबरू कराया.

आजादी के बाद पहली बार इस क्षेत्र में इतने अधिकारियों को देख यहां के लोगों ने कहा कि यह विश्वास नहीं हो रहा है कि जिला प्रशासन उनके बीच है. कल तक यहां सिर्फ नक्सलियों की चहल कदमी होती थी. गोलियों की तड़तड़ाहट की आवाजें सुनाई देती थी, बम फटते थे, लेकिन आज इसी जगह पर अधिकारियों के कलम योजनाओं को सैंगसन करने में लगी हुई है. डीसी, एसपी सहित जिले के सभी अधिकारी ग्रामीणों से उनके योजनाओं के बारे में पूछ रहे हैं. यह वहीं जगह है, जहां वर्ष 2018 में माओवादियों के सीरीज ब्लास्ट में जवान शहीद हो गए थे.

ग्रामीण कहते हैं कि आज यह हमलोग को सपना लग रहा है क्योंकि इससे पहले इतने अधिकारी एक साथ कभी नहीं देखा. कल तक यह आंख सिर्फ हथियार से लैस माओवादियों को देखा करती थी, आज नजारा ही बदला- बदला सा लग रहा है. आज तक गढ़वा का मुंह नहीं देखा, अब लगता है हमलोगों का विकास होगा. सीआरपीएफ कमांडेंट ने कहा कि अब यह क्षेत्र नक्सल मुक्त हो चुका है. अच्छी बात है कि आज यहां सरकार की योजना की शुरुआत हुई है. यहां तीन चीजें बहुत जरूरी है. सड़क, बिजली और शिक्षा. 

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सरकार के द्वारा आयोजित कार्यक्रम सरकार आपके द्वार की शुरुवात जिले के सबसे अंतिम गांव से की गई है. यहां विकास की बहुत जरूरत है. डीसी रमेश घोलप ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के निर्देश पर आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की शुरुवात बूढ़ा पहाड़ जैसे इलाके से की गई है, जो कुछ ही दिन पहले जवानों के अथक प्रयास से नक्सल मुक्त हुआ है. यहां के लोग अब भी विकास से कोसों दूर है. जनता की जो भी मूलभूत सुविधाएं है, अब धरातल पर उतारने की कोशिश की जाएगी. पहली बार इस क्षेत्र में एक साथ प्रशासनिक पदाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी एक साथ पहुंची है.

रिपोर्टर- धर्मेन्द्र कुमार