News Nation Logo

महबूबा मुफ्ती की चेतावनी- 35 A के साथ छेड़छाड़ बारूद को हाथ लगाने के बराबर

महबूबा मुफ्ती ने कहा, हमारे पास जो कुछ भी है, उसे बचाने के लिए कश्मीरियों की जरूरत है, हमारा अपना संविधान है, हमारे पास एक ऐसा दर्जा है जो बाहर के लोगों को यहां संपत्ति खरीदने की अनुमति नहीं देता है

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 28 Jul 2019, 12:53:16 PM

नई दिल्ली:

पीडीपी के 20वे स्थापना दिवस पर श्रीनगर में कार्यक्रम आयोजित किया गया है. इस कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महमबूबा मुफ्ती ने 35 A पर बात की. उन्होंने चेतावनी कहा कि आर्टिकल 35 A के साथ छेड़छाड़ करना बारूद को हाथ लगाने के बराबर है. जो हाथ 35 A के साथ छेड़ छाड़ करने के लिए उठेंगे, वो हाथ ही नहीं बल्कि सारा जिस्म जल कर राख हो जाएगा.

उन्होंने कहा, हमारे पास जो कुछ भी है, उसे बचाने के लिए कश्मीरियों की जरूरत है, हमारा अपना संविधान है, हमारे पास एक ऐसा दर्जा है जो बाहर के लोगों को यहां संपत्ति खरीदने की अनुमति नहीं देता है. आज घाटी में जो हालात हैं, वे डरावने हैं, जम्मू कश्मीर बैंक खत्म हो चुका है और धीरे-धीरे वे सब कुछ खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं. उमर ने कहा कि दिल्ली को अनुच्छेद 35 ए में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए लेकिन सुप्रीम कोर्ट को इससे निपटना चाहिए. हम दिल्ली को बताना चाहते हैं कि अनुच्छेद 35 ए को छूना बारूद को छूने जैसा होगा.


वहीं जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और अपने पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के बारे में बात करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा, मुफ्ती मोहम्मद सईद वह व्यक्ति था जो सामान्य कश्मीरी की परेशानियों को कम करना चाहता था. वह हमेशा संवाद के समर्थक थे. मुफ्ती सईद ही वो शख्स थे जिन्होंने टास्क फोर्स को खत्म कर मुजफ्फराबाद रोड खोला.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान नहीं आ रहा बाज, कश्मीर में बड़े आतंकी हमले की तैयारी

कश्मीरी पंडितों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, कश्मीरी पंडित हमारा दिल हैं. वो मुफ़्ती सईद ही थे जिन्होंने पंडितों के लिए आवास बनाया. एनआईए आज हमारे घरों के अंदर है और इसके लिए कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस जिम्मेदार है. मुफ्ती सईद हमेशा घाटी में शांति और सुलह के पक्ष में थे. कश्मीर मसला हल किया जाना उनकी पहली प्राथमिकता थी. बीजेपी के साथ गठबंधन पर बात करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा, जब हमने बीजेपी के साथ गठबंधन किया तो हमने सुनिश्चित किया कि बीजेपी आर्टिकल 370 और 35 ए को नहीं छुएगी. हमने यह भी सुनिश्चित किया कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत शुरू हो. उन्होंने हमारी बिजली परियोजनाओं को वापस करने का भी वादा किया. बीजेपी ने इस बात पर भी सहमति जताई थी कि PoK के लिए रास्ते खोल दिए जाएंगे और अलगाववादियों से बात की जाएगी.

यह भी पढ़ें: जम्मू- कश्मीर: टेरर फंडिंग मामले में बारामूला जिले में 4 जगहों पर NIA की छापेमारी

महबूबा मुफ्ती ने कहा, हम अपनी आखिरी सांस तक कश्मीर का बचाव करेंगे. पीडीपी कभी खत्म नहीं होगी, हमारे कार्यकर्ता यहां बारिश में भी डट कर खड़े हैं जो अपने स्वयं के पैसे पर दूर दराज के क्षेत्रों से आए हैं. मेरे पास पैसे नहीं हैं और मुझे पैसे की जरूरत भी नहीं है. मुझे बस आप लोगों की जरूरत है.

First Published : 28 Jul 2019, 12:51:55 PM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.