News Nation Logo
Banner

जम्मू में आवारा पशुओं की समस्या से निपटने के लिये गायों की जियो-टैगिंग शुरू

अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. आवारा पशु अक्सर जाम लगने और सड़क दुर्घटनाओं का कारण बनते हैं.

PTI | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 17 Jul 2019, 07:51:13 PM
समस्या से निपटने के लिये गायों की जियो-टैगिंग शुरू कर दी गई है.

New Delhi:  

जम्मू नगर निगम (जेएमसी) ने शहर की सड़कों पर आवारा पशुओं की समस्या से निपटने के लिये गायों की जियो-टैगिंग शुरू कर दी है. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. आवारा पशु अक्सर जाम लगने और सड़क दुर्घटनाओं का कारण बनते हैं. अधिकारियों ने कहा कि जियो-टैगिंग से लावारिस गायों के मालिकों का पता लगाने और उन्हें दंडित करने में मदद मिलेगी.

नगर पशु-चिकित्सा अधिकारी जफर इकबाल ने पीटीआई-भाषा से कहा, "हमने जम्मू नगर निगम के तहत आने वाले इलाकों में पशुओं की जियो-टैगिंग शुरू की है और हमें छह महीने के भीतर इस प्रक्रिया को पूरा कर शहर को आवारा पशुओं की समस्या से मुक्त बनाने का लक्ष्य हासिल करने की उम्मीद है."

यह भी पढ़ें- अगर सबकुछ सही रहा तो इस तारीख को ISRO लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, खामियां हुईं दूर

उन्होंने कहा कि शहर की सभी 300 डेयरियों और सड़कों पर खुलेआम घूम रहे मवेशियों को अभियान के दायरे में लाया जाएगा. अधिकारी ने कहा, "15 अंकों के एक टैग को पशुओं की गर्दन के नजदीक खाल में लगाया जाएगा, जिससे हमें पशुओं पर नजर रखने के अलावा उनके मालिकों की जानकारी हासिल होगी. एक बार टैगिंग हो जाने के बाद अगर कोई पशु दूसरी बार सड़कों पर घूमता हुआ पाया गया तो उसके मालिक पर जुर्माना लगाया जाएगा. अगर तीसरी बार भी ऐसा हुआ तो उसके पशु को जब्त कर लिया जाएगा."

First Published : 17 Jul 2019, 07:51:13 PM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.