News Nation Logo
Banner
Banner

Jammu Kashmir:नागरिकों की हत्या के बाद एक्शन मोड़ में आर्मी, TRF के 900 लोगों को हिरासत में लिया

पिछले कई दिनों से घाटी में तनाव बरकरार है. क्योंकि टीचर्स सहित कई अल्पसंख्यक लोगों को आतंकी निशाना बना चुके हैं. हत्या के बाद आज भारतीय सेना पूरी तरह एक्शन मोड़ में आ गई है. सेना ने बड़ी कार्रवाई करते हुए TRF के 900 लोगों को हिरासत में लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 10 Oct 2021, 09:38:58 PM
army

faile photo (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • अल्पसंख्यक लोगों को ही क्यों निशाना बना रहे आतंकी 
  •  जम्मू कश्मीर में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई
  •  गिरफ्तार लोगों से चल रही पूछताछ 

नई दिल्ली :

पिछले कई दिनों से घाटी में तनाव बरकरार है. क्योंकि टीचर्स सहित कई अल्पसंख्यक लोगों को आतंकी निशाना बना चुके हैं. हत्या के बाद आज भारतीय सेना पूरी तरह एक्शन मोड़ में आ गई है. सेना ने बड़ी कार्रवाई करते हुए TRF के 900 लोगों को हिरासत में लिया है. इन लोगों के आतंकी इनपुट भी खंगाले जा रहे हैं.. सेना को शक है कि टीआरएफ के लोगों के आतंकियों से संबंध हैं. इनकी निशानदेही पर ही आतंकी बड़ी वारदात को अंजाम देते हैं. जम्मू कश्मीर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद (जेएम), अल-बद्र और द रेसिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के 900 से अधिक ओवर-ग्राउंड वर्कर्स (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया गया है. अब उनसे कड़ाई से पूछताछ की जा रही है.. 

यह भी पढें :लखीमपुर घटना के विरोध में बंद रहेगा महाराष्ट्र, सरकार ने किया ऐलान

जानकारी के लिए बता दें कि घाटी में कश्मीरी पंडित व्यवसायी माखन लाल बिंदरू और दो अन्य नागरिकों की मौत की जिम्मेदारी टीआरएफ प्रमुख ने ली है. पिछले दिनों जम्मू पुलिस की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया था कि आतंकियों ने बिंदरू मेडिकेट के मालिक बिंदरू (68) को उस वक्त निशाना बनाया था.. जब वह अपनी फार्मेसी में थे. इसके बाद करीब साढ़े आठ बजे आतंकियों ने लाल बाजार इलाके में गोलगप्पा बेचने वाले विरेंद्र पासवान की हत्या कर दी थी. विरेंद्र पासवान बिहार के भागलपुर के रहने वाले थे. जो जम्मू जाकर व्यवसाय कर रहे थे.. इसके बाद करीब आठ बजकर 45 मिनट पर आतंकियों ने बांदीपोरा के शाहगुंड इलाके में एक आम नागरिक की हत्या कर दी. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि मृतक की पहचान नायदखाई निवासी मोहम्मद शफी लोन के रूप में हुई थी..

पुलिस को ओर मिले इनपुट के  बाद सेना ने इतनी बड़ी कार्रवाई की है. सेना का मानना है कि गिरफ्तार टीआरएफ के लोगों से आतंकियों के मंसूबे क्या हैं. इसका पता चल सकता है..

First Published : 10 Oct 2021, 09:38:58 PM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो