News Nation Logo

अमित शाह ने कहा- तीन परिवारों ने 70 साल तक जम्मू-कश्मीर को सिर्फ 87 विधायक और 6 सांसद दिए

इन तीन परिवारों ने 70 साल तक जम्मू-कश्मीर को क्या दिया- 87 विधायक, 6 सांसद. 30,000 लोगों को निर्वाचित प्रतिनिधि बनाने का काम मोदी जी ने किया है, हर गांव में एक पंचायत बनाई गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 24 Oct 2021, 05:47:54 PM
Amit Shah HM

अमित शाह, गृह मंत्री (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:

केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू में पहली बार जनसभा को संबोधित किया. शाह ने धारा-370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में चल रही विकास योजनाओं का हवाला दिया और कई योजनाओं का ऐलान भी किया. इस दौरान गृहमंत्री ने कहा, आज प्रेमनाथ डोगरा की जयंती है. भारत के लोग उन्हें नहीं भूल सकते. उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर नारा दिया कि एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेंगे. इसके साथ ही गृहमंत्री ने जम्मू कश्मीर की सत्ता में रहे तीन परिवारों पर जमकर निशाना साधा.

शाह ने कहा, अब जम्मू कश्मीर में अन्याय नहीं होगा, यहां सिर्फ विकास होगा.  अमित शाह ने कहा, "... जम्मू-कश्मीर में शुरू हुए विकास के युग को कोई नहीं रोक सकता. यह मंदिरों की भूमि है, माता वैष्णो देवी की, प्रेम नाथ डोगरा की, श्यामा प्रसाद मुखर्जी की बलिदान की भूमि है. हम जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने वालों को सफल नहीं होने देंगे."

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, मैं आज यह कहने के लिए जम्मू आया था कि जम्मू के लोगों के साथ अन्याय का समय समाप्त हो गया है, अब आपके साथ कोई अन्याय नहीं कर सकता. कुछ यहां विकास के युग को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन आपको विश्वास दिलाना चाहते हैं कि कोई भी विकास के युग को बाधित नहीं कर पाएगा.  

अमित शाह के संबोधन की बड़ी बातें. 'तीन परिवारों से हिसाब लेने आया हूं' अमित शाह ने कहा, 'मैं उनका नाम नहीं लेना चाहता. लेकिन जम्मू कश्मीर में तीन परिवारों का शासन रहा है. ये लोग पूछते हैं कि मैं क्या निवेश लाया हूं. भाई मैं तो हिसाब लेकर आया हूं कि क्या देकर जाऊंगा. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि आप लोगों ने 7 दशकों में क्या किया. जम्मू कश्मीर हिसाब मांग रहा है. मोदी सरकार में सभी के साथ न्याय होगा, किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा. 

शाह ने कहा "इन तीन परिवारों ने 70 साल तक जम्मू-कश्मीर को क्या दिया- 87 विधायक, 6 सांसद. 30,000 लोगों को निर्वाचित प्रतिनिधि बनाने का काम मोदी जी ने किया है, हर गांव में एक पंचायत बनाई गई है... अब इन तीन परिवारों की 'दादागिरी' नहीं चलेगी."   

उन्होंने कहा, अब राज्य में मेट्रो चलेगी, हर जिले में हेलिकॉप्टर सेवा शुरू होगी. मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए 55,000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया था. आज 55,000 करोड़ रुपये के पैकेज में से 33,000 करोड़ रुपये खर्च हो चुका है, विकास की 21 योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं. शाह ने कहा, एक जमाना था कि जम्मू-कश्मीर में कहने को पांच मगर चार ही मेडिकल कॉलेज थे. आज मैं आपको बताने आया हूं कि जम्मू-कश्मीर में अब सात नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो चुकी है. पहले 500 स्टू़डेंट्स यहां से MBBS कर सकते थे, अब लगभग 2,000 छात्र यहां MBBS कर पाएंगे. 

यह भी पढ़ें: JNU: कुछ करें टुकड़े-टुकड़े की बात, कुलपति ले रहे श्रीराम का नाम

गृह मंत्री ने कहा, जम्मू कश्मीर मोदी के दिल में बसता है. यहां अगले दो साल में जम्मू और श्रीनगर में मेट्रो चलने लगेगी. जम्मू एयरपोर्ट का विस्तार किया जा रहा है. हर जिले में हेलिकॉप्टर सर्विस शुरू होगी. अमित शाह ने कहा, राज्य में अब तक 12000 करोड़ का निवेश हुआ है. 2022 तक 51000 करोड़ का निवेश राज्य में होगा. लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा. 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू में गुरुद्वारा डिगियाना आश्रम का दौरा किया.

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा, "एक समय था जब गोरखा समुदाय के लोग सरकारी नौकरियों और उच्च शिक्षा से रहित थे. वाल्मीकि समुदाय शिक्षा और रोजगार के अच्छे अवसरों से रहित था. महिलाओं को उनका अधिकार नहीं मिल रहा था. आज आप देख रहे हैं कि यह सब हकीकत में बदल रहा है."

First Published : 24 Oct 2021, 05:34:51 PM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.