News Nation Logo

Kinnaur Nigulsari landslide: छठे दिन मिले 2 और शव, मृतकों की संख्या हुई 25

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में नेशनल हाईवे-5 पर निगुलसरी के पास हुए भूस्खलन से शवों के निकलने का सिलसिला अभी जारी है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 16 Aug 2021, 04:54:51 PM
Kinnaur Nigulsari landslide

Kinnaur Nigulsari landslide (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में नेशनल हाईवे-5 पर निगुलसरी के पास हुए भूस्खलन ( Kinnaur Nigulsari landslide incident ) से शवों के निकलने का सिलसिला अभी जारी है. यहां हादसे के छठे दिन सोमवार को बचाव दलों ने मलबे से 2 और शवों को बाहर निकाला. इस तरह से हादसे के मृतकों की संख्या अब 25 पहुंच गई है. जिसके बाद अब केवल तीन लोग ही लापता बताए जा रहे हैं. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ( SDRF ) के अनुसार किन्नौर के निगुलसारी पहाड़ टूटने की घटना में दो और शवों के मिलने के बाद यहां मौतों का आंकड़ा बढ़कर 25 हो गया है. किन्नौर निगुलसारी भूस्खलन की घटना पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ( Himachal Pradesh CM Jairam Thakur ) ने कहा​ कि डीएम मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लेंगे. कुछ लोगों के अभी भी मलबे में दबे होने की आशंका है. मैं घायल व्यक्तियों और उनके परिजनों से अस्पताल में मिला हूं. 

इसे भी पढ़ें:तालिबान ने अमेरिका को यूं ही परास्त नहीं किया, जानें एक रोचक दास्तां

 

आपको बता दें कि चार दिन पहले हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने गुरुवार को किन्नौर जिले में चल रहे बचाव अभियान का जायजा लेने के लिए विनाशकारी भूस्खलन स्थल का दौरा किया था, जहां से तब तक 14 शव निकाले जा चुके थे, जबकि कम से कम 16 लोग अभी भी लापता बताए जा रहे थे. इस बीच, बचाव दल ने कहा है कि भूस्खलन के बाद राज्य रोडवेज की बस का मलबा गुरुवार की सुबह बड़े पैमाने पर चल रहे राहत अभियान के तहत 500 मीटर गहरी खाई में गिरा हुआ पाया गया. ठाकुर ने शिमला में लौटने के बाद मीडिया से कहा, हमारे अनुमान के मुताबिक करीब 16 लोग अब भी लापता हैं और बचाव अभियान जारी है.

यह भी पढ़ें : पेगासस विवाद पर केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, गलत नैरेटिव दूर करने के लिए विशेषज्ञ पैनल बनाएंगे

उन्होंने कहा कि राज्य प्रत्येक मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये मुहैया कराएगा. उन्होंने कहा कि मृतक बस यात्रियों के परिजनों को भी एक-एक लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे. ज्यादातर पीड़ित किन्नौर जिले के हैं. मलबे से ढके 200 मीटर के दायरे में फंसे लोगों को निकालने के लिए कई एजेंसियों की मदद से बचाव अभियान जारी है. राज्य की राजधानी से लगभग 180 किलोमीटर दूर निगुलसारी के पास शिमला-रेकांग पियो राजमार्ग के एक हिस्से पर हुए भूस्खलन में एक ट्रक, राज्य रोडवेज बस और अन्य वाहन दब गए थे. भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने सुबह किए एक ट्वीट में कहा, 17, 18 और 43 बटालियन के आईटीबीपी सैनिकों द्वारा सड़क के लगभग 500 मीटर नीचे और सतलुज नदी से 200 मीटर ऊपर पहली रोशनी (सुबह 5.25 बजे) में बस का मलबा मिला। एक और शव बरामद किया गया है. अब तक कुल 11 शव निकाले गए हैं.

First Published : 16 Aug 2021, 04:37:37 PM

For all the Latest States News, Himachal News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.