logo-image
लोकसभा चुनाव

आज होगा खट्टर कैबिनेट का विस्तार, कुछ ऐसा हो सकता है हरियाणा का नया मंत्रिमंडल

मंत्रियों का शपथ ग्रहण सामरोह सुबह 11 बजे हो सकता है. सूत्रों की मानें तो संभावित मंत्रिमंडल की एक लिस्ट भी सामने आई है.

Updated on: 14 Nov 2019, 07:15 AM

नई दिल्ली:

आज यानी गुरुवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) की मंत्रिपरिषद (Council of Ministers) का विस्तार होगा. मंत्रियों का शपथ ग्रहण सामरोह सुबह 11 बजे हो सकता है. सूत्रों की मानें तो संभावित मंत्रिमंडल की एक लिस्ट भी सामने आई है.

हरियाणा का नया मंत्री मंडल इस तरह हो सकता है

1. मनोहर लाल खट्टर ,मुख्यमंत्री
2. अनिल विज ,कैबिनेट मंत्री
3.कंवरपाल गुर्जर,कैबिनेट मंत्री
4.दीपक मंगला/ कमल गुप्ता
5.अभय यादव ,कैबिनेट मंत्री
6.विशम्बर बाल्मीकि ,कैबिनेट मंत्री
7.सीमा त्रिखा ,राज्यमंत्री
8.बनवारी लाल ,कैबिनेट मंत्री
9 .महिपाल ढांडा राज्यमंत्री

जेजेपी कोटा
1. दुष्ण्यत चौटाला ,उप मुख्यमंत्री
2.रामकुमार गौतम ,कैबिनेट मंत्री
3. ईश्वर सिंह / अनूप धानक...

निर्दलीय कोटा

1.रणजीत सिंह,कैबिनेट मंत्री
2. रणधीर गोलन, राज्यमंत्री

यह भी पढ़ें: अयोध्या मामले के बाद अब आज सबरीमाला और राफेल पर फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

बता दें, राज्य में हुए विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) के नतीजे 24 अक्टूबर को आए थे, जिसके बाद 27 अक्टूबर को जननायक जनता पार्टी (JJP) के साथ गठबंधन कर भाजपा (BJP) ने सरकार बनाई थी. अभी तक सिर्फ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) के भरोसे ही राज्य की सरकार चल रही थी. पूरी तरह कैबिनेट का गठन न होने के कारण अपेक्षित गति से सरकार नहीं चल पा रही थी.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र की राजनीति पर कांग्रेस और एनसीपी के बीच चली गुप्त बैठक, सरकार बनाने पर मंथन जारी

दरअसल जननायक जनता पार्टी और बीजेपी के बीच मंत्रियों की संख्‍या और विभागों का बंटवारे में पेंच फंसने के चलते मंत्रिपरिषद विस्तार में देरी हो रही थी. सूत्र बता रहे हैं कि अब जननायक जनता पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के बीच सहमति बन गई है. इसी के बाद गुरुवार को मंत्रिपरिषद का विस्तार करने का फैसला लिया गया है.

पिछले महीने 21 अक्‍टूबर को हरियाणा विधानसभा चुनाव के बाद 24 अक्‍टूबर को मतगणना हुई थी. मतगणना में बीजेपी को अपेक्षित परिणाम हासिल नहीं हुए थे. राज्‍य में त्रिशंकु विधानसभा होने की स्‍थिति में जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्‍यंत चौटाला ने बीजेपी को समर्थन देने का फैसला लिया था. दिवाली के दिन यानी 27 अक्‍टूबर को मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्‍व में राज्‍य में सरकार बनी थी और दुष्‍यंत चौटाला उपमुख्‍यमंत्री बने थे.

विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 40, कांग्रेस को 31, जननायक जनता पार्टी को 10 और 8 निर्दलीय विधायक चुने गए थे. हरियाणा लोकहित कांग्रेस के एक प्रत्‍याशी गोपाल कांडा भी विधायक चुने गए थे.