logo-image
लोकसभा चुनाव

Haryana Bus Accident: हादसे में आठ छात्रों की मौत पर प्रशासन सख्त, प्रिं‍सिपल को हिरासत में लिया, स्कूल की मान्यता रद्द होगी

Haryana Bus Accident: प्रिंसिपल ने सही कदम उठाए होते तो बच्चों की जान बच सकती थी. आरोपी बस ड्राइवर सेहलंग गांव का निवासी है.  

Updated on: 11 Apr 2024, 05:29 PM

नई दिल्ली:

Haryana Bus Accident: हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में एक सड़क हादसे में आठ छात्रों की मौत के बाद प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है. स्कूल प्रिंसिपल दीप्ती राव को पुलिस ने हिरासत में लिया है. प्रिंसिपल दीप्ति पर लापरवाही के आरोप लगे हैं. बताया जा रहा है कि नशे में धुत बस ड्राइवर को खेड़ी गांव में ग्रामीणों ने रोका था. ड्राइवर के नशे में धुत होने की जानकारी ग्रामीणों ने प्रिंसिपल हो दी थी. प्रिंसिपल ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि आज ड्राइवर को जाने दिया जाए. कल इसे हटा दिया जाएगा. अगर उस समय प्रिंसिपल ने सही कदम उठाए होते तो बच्चों की जान बच सकती थी. आरोपी बस ड्राइवर सेहलंग गांव का निवासी है.  

ये भी पढ़ें: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हुए भावुक, बोले-इमरजेंसी के समय बीमार मां से मिलने के लिए मुझे पेरोल नहीं मिली 

प्रिंसिपल को पुलिस ने स्कूल से हिरासत में लिया. पुलिस ने डायरेक्टर के ऑफिस से कुछ दस्तावेजों को भी अपने कब्जे में लिया. प्रिंसिपल ने पूरे मामले में अभी तक कुछ नहीं बोला है. महेंद्रगढ़ पुलिस अधीक्षक अर्श वर्मा के अनुसार, बस के चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है. वर्मा के अनुसार, ‘हमने ड्राइवर को पकड़ लिया है. उसकी मेडिकल जांच कराई जा रही है. इसके बाद ही हम पुष्टि कर सकेंगे कि ड्राइवर नशे में था की नहीं. घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है.’ इस हादसे पर पीएम मोदी ने दुख जताते हुए कहा, हरियाणा के महेंद्रगढ़ में हुआ बस हादसा अत्यंत पीड़ादायक है. मेरी शोक-संवेदनाएं उन सभी परिवारों के साथ हैं, जिन्होंने इस दुर्घटना में अपने बच्चों को खोया है. इसके साथ ही मैं सभी घायल बच्चों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन पीड़ितों और उनके परिजनों की हरसंभव सहायता में जुटा है.

 

स्कूल में ईद का अवकाश नहीं हुआ

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बस गांव उन्हानी के पास ओवरटेक के दौरान अचानक पलट गई. इस दौरान जोरदार आवाज हुई और चारों तरफ चीख-पुकार देखी गई. हादसे की सूचना पर लोग मौके पर एकत्र हो गए. इस हादसे में आठ बच्चों की मौत हो गई. वहीं 20 से अधिक गंभीर रूप से घायल हो गए. 

स्कूल की मान्यता रद्द होगी 

जिला उपयुक्त मोनिका गुप्ता के अनुसार, एक काफी दुखद घटना है. प्रशासन इस पर कड़ी कार्रवाई करेगा. मृतक बच्चों के परिवार वालों की हर संभव मदद की जाएगी. जो बच्चे हादसे में घायल हो गए, उनका बेहतर इलाज होगा. उनका प्रयास होगा कि जो भी बच्चे हादसे में घायल हुए उनका उचित इलाज हो. वे पूरी तरह से स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटे. उनका कहना है, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.सरकारी छुट्टी वाले दिन प्राइवेट स्कूल चलाया जा रहा था, इसे लेकर प्रशासन ने स्कूल की मान्यता को रद्द करने का प्रस्ताव उच्च अधिकारियों और सरकार को भेजा है.