logo-image
लोकसभा चुनाव

Haryana Assembly Election 2024: हरियाणा की इन 3 विधानसभा सीटों पर मुस्लिम वोटर्स का अहम रोल, जानिए समीकरण

साल के अंत में हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इसे लेकर सभी पार्टियां तैयारी में जुट चुकी हैं. प्रदेश में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. वहीं, प्रदेश में किसी की भी सरकार बनाने में जाट और मुस्लिम वोटर्स अहम भूमिका निभाते हैं.

Updated on: 05 Jul 2024, 01:23 PM

highlights

  • हरियाणा विधानसभा चुनाव को लेकर बढ़ी सियासी हलचलें
  • 3 विधानसभा सीट पर मुस्लिम वोटर्स निभाते हैं अहम भूमिका
  • प्रदेश में 27 फीसदी जाट वोटर्स

Chandigarh:

हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी हलचलें तेज हो चुकी है. प्रदेश के मुख्यमंत्री नायाब सिंह सैनी लगातार प्रदेशवासियों को नई-नई सौगात देते नजर आ रहे हैं. हाल ही में नायाब सैनी ने स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन को बढ़ाने की घोषणा की. वहीं, उसके बाद राज्य सरकार ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम के पार्ट वन, पार्ट 2 और पार्ट 3 के भर्ती कर्मचारियों की सैलेरी में भी 8 फीसदी की बढ़ोतरी की घोषणा की है. इन घोषणाओं से ऐसा लग रहा है मानों नायाब सरकार साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रखना चाहती है.

विधानसभा चुनाव में बीजेपी लगा पाएगी जीत का हैट्रिक!

बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी का प्रदर्शन राज्य में निराशाजनक रहा. प्रदेश में लोकसभा की कुल 10 सीटें हैं, जिसमें से बीजेपी को सिर्फ 5 सीटों पर जीत मिली. वहीं, पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले कांग्रेस को 5 सीटों का फायदा पहुंचा. 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदेश में खाता भी नहीं खुला था. राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो लोकसभा चुनाव के नतीजों ने बीजेपी की चिंता विधानसभा चुनाव में बढ़ा दी है.

यह भी पढ़ें- Hisar Band: बढ़ते क्राइम को लेकर व्यापारियों में आक्रोश, हिसार बंद का किया ऐलान

हरियाणा में 27 फीसदी जाट वोटर्स

आपको बता दें कि पिछले दो विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल कर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी. वहीं, हैट्रिक जीत के लिए भाजपा विधानसभा चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इन सबके बीच आइए जानते हैं क्या है हरियाणा का जातीय समीकरण. हरियाणा में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. प्रदेश में किसी की सरकार बनाने में यहां जाट और मुस्लिम वोटर्स अहम भूमिका निभाते हैं. प्रदेश में जाटों की कुल आबादी करीब 27 फीसदी है, जो राज्य की करीब 40 सीटों पर किसी भी उम्मीदवार को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

इन तीन विधानसभा सीट पर मुस्लिम वोटर्स निभाते हैं अहम भूमिका

वहीं, प्रदेश के मेवात क्षेत्र में किसी भी उम्मीदवार को जिताने में मुस्लिम वोटर्स अहम रोल प्ले करते हैं. हरियाणा में मुस्लिम आबादी करीब 7 फीसदी है, ये प्रदेश के मेवात क्षेत्र में केंद्रित हैं. मेवात में तीन विधानसभा सीटें आती है- नूंह, पुन्हाना और फिरोजपुर-झिरका. इन तीनों ही विधानसभा सीट को मिला दें तो इस क्षेत्र में 79 फीसदी मुस्लिम आबादी है.