logo-image

Farmers Protest: अब हरियाणा के इस क्षेत्र से मंगलवार को दिल्ली कूच करेंगे किसान, जानें क्या है मांगें

Farmers Protest: किसान फसलों पर एमएसपी देने और भूमि अधिग्रहण कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं.

Updated on: 18 Feb 2024, 05:02 PM

नई दिल्ली:

Farmers Protest: हरियाणा और पंजाब के किसान अपनी मांगों को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. रविवार को किसानों की मांगों का समर्थन करने के लिए हरियाणा के मानेसर में दक्षिथ हरियाणा किसान खाप की बैठक हुई. इस बैठक में किसानों द्वारा निर्णय लिया गया कि वह मंगलवार को मानेसर क्षेत्र से दिल्ली की ओर कूच करेंगे. दक्षिण हरियाणा किसान खाप के अध्यक्ष रोहताश यादव के मुताबिक, किसान फसलों पर एमएसपी देने और भूमि अधिग्रहण कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारे क्षेत्र में भूमि अधिग्रहण किया गया है. इसके विरोध में पूरे क्षेत्र के किसान आंदोलन कर रहे हैं. रोहतास यादव का कहना है कि हम इन मांगों का समर्थन कर रहे हैं. इसके चलते हम पैदल मार्च निकालेंगे.

ये भी पढ़ें: Health Weekly Rashifal: सेहत के लिहाज से कैसा रहेगा सप्ताह? जानें सभी 12 राशियों का साप्ताहिक स्वास्थ्य राशिफल

पीएम आवास तक निकालेंगे पैदल मार्च

मानेसर में हुई बैठक में इस बात का निर्णय लिया गया कि किसान मंगलवार सुबह दस बजे मानेसर तहसील के सामने से दिल्ली के लिए पैदल ही कूच करेंगे. पैदल मार्च धरनास्थल से शुरू होगा और ये किसान राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास तक मार्च निकालेंगे. किसानों का कहना है कि अगर उन्हें बीच में पुलिस ने कहीं रोका तो वह वहीं धरने पर बैठ जाएंगे.

किसानों का कहना है कि दक्षिण हरियाणा किसान खाप इस पैदल कूच को मजबूती के साथ निकालेगी. इसके लिए खाप के पदाधिकारियों की ड्यूटी भी लगा दी गई है. इस बैठक में पूरे क्षेत्र के किसान शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने नारेबाजी करते हुए किसानों की मांगों का समर्थन किया.

ये भी पढ़ें: Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो के इस स्टेशन का बंद रहेगा गेट, जानें कब तक नहीं होगी एंट्री और क्यों?

23 मार्च को अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर प्रदर्शन

वहीं दूसरी ओर सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर पिछले दो साल से धरना दे रहे अहीर समाज के लोगों ने रविवार को धरनास्थल पर बैठक की. इस बैठक में निर्णय लिया गया कि 23 मार्च को बलिदानी दिवस के अवसर पर बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा. इस प्रदर्शन में पूरा समाज एकत्रित होकर सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग को तेज करेगा.

इसके साथ ही संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा की तरफ से यह प्रदर्शन धरनास्थल पर किया जाएगा. बता दें कि आंदोलन में भारी संख्या में लोगों के शामिल होने की उम्मीद है. बैठक के दौरान मोर्चा के सदस्यों ने कहा कि सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर पिछले दो साल से लगातार धरना दिया जा रहा है. भूख हड़ताल के अलावा बड़े प्रदर्शन भी किए गए हैं.

ये भी पढ़ें: बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन में PM मोदी बोले- हम वोट और सीटों के हिसाब से काम नहीं करते