News Nation Logo

चंडीगढ़ मोहाली बॉर्डर पर किसानों और पुलिस में टकराव, बेरिकेट्स तोड़ पहुंचे किसान

पंजाब के किसान मोहाली के रास्ते चंडीगढ़ की सीमा में प्रवेश कर गए. किसानों ने आठ और नौ चौक के बीच में लगाई गई बसों को भी हटाकर बैरिकेड तोड़ दिया और वह राजभवन की तरफ बढ़ने लगे. पुलिस किसी भी तरह से उन्हें कंट्रोल नहीं कर पा रही थी.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 26 Jun 2021, 06:17:45 PM
kisan

किसान आंदोलन (Photo Credit: ANI)

चंडीगढ़ :

कृषि कानूनों के खिलाफ देश भर में चल रहे किसान आंदोलन को आज सात महीने पूरे हो गए. इस मौके पर किसान नेताओं ने देशभर में बड़ा आंदोलन बुलाया है और इसके तहत आंदोलनकारी किसान कृषि कानूनों के खिलाफ तमाम राज्यों के राज्यपाल और केंद्र शासित प्रदेशों के उपराज्यपालों को ज्ञापन सौंप रहे हैं. तीनों कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर धरना दे रहे किसान संगठन आज राज्यपालों को ज्ञापन सौंपने के लिए राजभवनों का घेराव कर रहे हैं. पंजाब व हरियाणा के किसान अपने-अपने राज्यपालों को ज्ञापन सौंपने के लिए राजभवन की ओर कूच किया. पंजाब के किसान मोहाली के रास्ते चंडीगढ़ की सीमा में प्रवेश कर गए.

पंजाब के किसान मोहाली के रास्ते चंडीगढ़ की सीमा में प्रवेश कर गए. किसानों ने आठ और नौ चौक के बीच में लगाई गई बसों को भी हटाकर बैरिकेड तोड़ दिया और वह राजभवन की तरफ बढ़ने लगे. पुलिस किसी भी तरह से उन्हें कंट्रोल नहीं कर पा रही थी. यहां चंडीगढ़ डिप्टी कमिश्नर मनदीप सिंह बराड़ किसानों से ज्ञापन लेने पहुंचे.

किसान चंडीगढ़ में एंटर न हो सकें इसके लिए मोहाली बार्डर व पंचकूला में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था. लेकिन, किसानों की संख्या को देखते हुए इंतजाम नाकाफी साबित हुए. पंचकूला में किसानों व पुलिस के बीच टकराव हो गया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बेरिकेट्स को उखाड़ फेंका. किसान प्रदर्शनकारी आगे बढ़े. मोहाली में भी पुलिस बेरिकेट्स को तोड़कर किसान चंडीगढ़ में एंटर हो गए और राजभवन के नजदीक तक पहुंच गए. बाद में पुलिस ने उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया और चंडीगढ़ के डीसी मौके पर ज्ञापन लेने पहुंचे.


बता दें कि आज के राष्ट्रव्यापी किसानों के आंदोलन के बीच खबर आई थी कि भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत की गिरफ्तारी हो गई है. लेकिन दिल्ली पुलिस ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत की गिरफ्तारी की खबरें फर्जी हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा कि इस तरह की फर्जी खबरें फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. राकेश टिकैत ने सभी से अपील की है कि वे किसी भी तरह की अफवाह पर विश्वास न करें

दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि कार्यक्रम (किसानों का एलजी को ज्ञापन देने का आह्वान) सुचारू रूप से चल रहा है. सीमा और दिल्ली के अन्य स्थानों से कुछ लोग एलजी से मिलने आए और हमने उन्हें अनुमति दी. हम हमेशा तैयार रहते हैं लेकिन आज कुछ नहीं हुआ. सब कुछ नियंत्रण में है. 

 

First Published : 26 Jun 2021, 06:17:45 PM

For all the Latest States News, Haryana News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.