News Nation Logo

गुजरात में चक्रवात तौकते से कई पेड़-खंभे उखड़े, 3 लोगों की गई जान

गुजरात में भीषण चक्रवात तौकते से हुई तबाही में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि प्रशासन तलाश एवं बचाव अभियान चलाने में पूरी तरह क्रियाशील है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 18 May 2021, 06:19:20 PM
Cyclone Tauktae

गुजरात में चक्रवात तौकते से कई पेड़-खंभे उखड़े (Photo Credit: फाइल फोटो)

गांधीनगर:

गुजरात में भीषण चक्रवात तौकते से हुई तबाही में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि प्रशासन तलाश एवं बचाव अभियान चलाने में पूरी तरह क्रियाशील है. भीषण चक्रवात के मंगलवार शाम तक राज्य में उत्तर की ओर अपनी यात्रा जारी रखने की उम्मीद है. मुख्यमंत्री ने मीडिया को बताया कि हमने गुजरात में तौकते से हुई तबाही के कारण सोमवार की रात से तीन मौतों के मामलों की पुष्टि की है. हाल ही में बनी दीवार गिरने से एक 3 साल के बच्चे की मौत हो गई. गरियाधर तहसील में एक 80 वर्षीय महिला की मौत हो गई और एक और मौत वापी में रिपोर्ट की गई थी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली रात से जब चक्रवात ने दस्तक दी, तब से यह राज्य में उत्तर की ओर अपनी यात्रा जारी रखे हुए हैं, लेकिन चक्रवात कुछ कमजोर हुआ है. प्रशासन की विस्तृत योजना के कारण, कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है. हमने 2 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है.

उन्होंने आगे कहा कि हमारी सबसे बड़ी चिंता यह थी कि अस्पतालों में कोविड का इलाज प्रभावित हो सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. केवल 16 अस्पतालों में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई, जिसमें से 12 में बिजली कंपनियों ने बिजली बहाल कर दी. बाकी 4 अस्पतालों में, जनरेटर के माध्यम से आपूर्ति की जा रही है. शीघ्र ही वहां भी बिजली बहाल कर दी जाएगी.

सीएम ने कहा कि हमारी दूसरी चिंता यह थी कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली और हरियाणा जैसे अन्य राज्यों को आपूर्ति की जाने वाली अधिकांश ऑक्सीजन प्रभावित हो सकती है. मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि 2,437 गांवों में बिजली काट दी गई है, जिसमें से 484 गांवों में बिजली बहाल कर दी गई है. सीएम ने मंगलवार को कहा कि बिजली कंपनियों की सभी टीमें काम कर रही हैं और हर जगह बिजली बहाल करने की कोशिश कर रही हैं. 220 किलो वाट के दो स्टेशन प्रभावित हुए हैं और उन्हें बहाल करने के प्रयास जारी हैं.

सीएम के मुताबिक, चक्रवाती हवाओं के कारण सौराष्ट्र के प्रभावित जिलों में 1,081 बिजली के खंभे उखड़ गए हैं. कुल 159 सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं और यह अनुमान लगाया गया है कि लगभग 40,000 पेड़ उखड़ गए हैं या गिर गए हैं. सड़क और भवन टीमों ने 42 सड़कों पर आवागमन बहाल कर दिया है.

सीएम ने कहा कि प्राथमिक आकलन के अनुसार अब तक झोपड़ियों सहित लगभग 16.5 हजार घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, लेकिन सर्वेक्षण अभी भी जारी है, क्योंकि चक्रवात अभी तक राज्य से बाहर नहीं निकला है. सौराष्ट्र के कई हिस्सों में तेज हवाओं और भारी बारिश के साथ भीषण चक्रवात तौकते ने गुजरात को प्रभावित किया. सबसे ज्यादा बारिश 9 इंच की बगासरा तहसील में हुई. जूनागढ़ के गिर-गढ़ाडा क्षेत्र और ऊना क्षेत्र में 8 इंच बारिश हुई, जबकि सावरकुंडला तहसील में 7 इंच बारिश हुई. अमरेली जिले की अमरेली, राजुला, बाबरा तहसील में लगभग 5 इंच बारिश हुई. 35 तहसीलों में 1-3 इंच बारिश हुई.

अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) राजस्व, पंकज कुमार ने कहा कि चक्रवात अहमदाबाद से दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में 210 किलोमीटर की दूरी पर 105-115 किलोमीटर की गति के साथ आ रहा है. चक्रवात की आवाजाही मंगलवार शाम तक जारी रहेगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 May 2021, 06:19:20 PM

For all the Latest States News, Gujarat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो