News Nation Logo
Banner

कांग्रेस को एक और झटका, अल्पेश ठाकोर के बाद दो अन्य विधायकों ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ

गुजरात में कांग्रेस को अल्पेश ठाकोर के इस्तीफा देने के बाद एक और बड़ा झटका लगा है. अल्पेश ठाकोर के साथ ही दो अन्य कांग्रेस विधायकों ने अपना इस्तीफा दे दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 10 Apr 2019, 07:50:06 PM
अल्पेश ठाकोर, भरत जी ठाकोर और धवल सिंह ठाकोर.

अल्पेश ठाकोर, भरत जी ठाकोर और धवल सिंह ठाकोर.

नई दिल्ली:

गुजरात में कांग्रेस को अल्पेश ठाकोर के इस्तीफा देने के बाद एक और बड़ा झटका लगा है. अल्पेश ठाकोर के साथ ही दो अन्य कांग्रेस विधायकों ने अपना इस्तीफा दे दिया है. कांग्रेस विधायक धवल सिंह ठाकोर (Dhavalsinh Thakor) और भरत जी ठाकोर (Bharatji Thakor) ने भी कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है. अल्पेश ठाकोर ने कहा है कि वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे. न ही उनके साथ इस्तीफा देने वाले विधायक भाजपा में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि विधायक के रूप में वह अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे.

यह भी पढ़ें- गुजरात : बनासकांठा की तेल मिल में लगी भीषण आग, 25 करोड़ रुपये का नुकसान

लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण की वोटिंग से महज कुछ घंटे पहले कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने पार्टी छोड़ने के ऐलान से राजनीतिक गलियारे में हलचल बढ़ गई है. अल्पेश ठाकोर गुजरात के राधनपुर विधासभा सीट से कांग्रेस के विधायक थे. बीते कई महीनों से उनका पार्टी नेतृत्व के साथ विवाद चल रहा था और अल्पेश आरोप लगा रहे थे कि गुजरात कांग्रेस ईकाई के नेता उनकी बात नहीं सुनते हैं. अल्पेश ठाकोर के कांग्रेस छोड़ने के बाद उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलों को अब बल मिल रहा है.

इससे पहले 9 मार्च को अल्पेश ठाकोर ने कांग्रेस छोड़ने की खबर को अफवाह करार दिया था और कहा था कि वो पार्टी नहीं छोड़ेंगे. ओबीसी(अन्य पिछड़ा वर्ग) नेता अल्पेश ठाकोर ने उन अटकलों को भी पहले खारिज कर दिया था जिसमें कहा गया था कि वो कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले हैं. उन्होंने कहा था कि उनके मुद्दे फिलहाल सुलझ गए हैं.

यह भी पढ़ें- NN Opinion poll: राजस्‍थान-गुजरात से कांग्रेस को मिल रही संजीवनी, NDA को नुकसान

अल्पेश 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस में शामिल हुए थे. उन्होंने लगभग एक पखवाड़ा पहले मुख्यमंत्री रूपानी और गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतूभाई वाघवानी से मुलाकात कर कांग्रेस नेतृत्व की रातों की नींद उड़ा दी थी.

ठाकोर ने कहा, "एक समय मैं अपने समुदाय की बेहतर सेवा करने के लिए मंत्री पद चाह रहा था, लेकिन अब संघर्ष करने का फैसला कर लिया है." उन्होंने कहा, "अगर मैं भाजपा में चला जाता तो मैं छह महीने पीछे चला जाता." ठाकोर ने यह भी स्वीकार किया कि वह प्रदेश में कांग्रेस के कुछ नेताओं की कार्यप्रणाली से भी असंतुष्ट थे, लेकिन अब यह बीती बात हो चुकी है.

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी के कद के बराबर देश में दूसरा कौन सा नेता है इसके जवाब में लोगों ने कहा यह..

राधनपुर से विधायक अल्पेश ने उन अटकलों को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि वह आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट चाहते हैं. वह उन सवालों पर हंसने लगे, जिसमें कहा गया कि वह सांसद बनना चाहते हैं और उसके बाद अपनी विधानसभा सीट से अपनी पत्नी को लाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, "मेरी पत्नी राजनीति में कभी नहीं आएगी." उन्होंने कहा कि वह आगे भी गरीबों, बेरोजगारों, किसानों, दलितों और आदिवासियों के अधिकारों के लिए संघर्ष करते रहेंगे.

First Published : 10 Apr 2019, 07:10:17 PM

For all the Latest States News, Gujarat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो