News Nation Logo

हाईकोर्ट ने कोविड निर्देशों को संशोधित करने पर प्रशासन को फटकार लगाई

दक्षिण गोवा एडवोकेट्स एसोसिएशन की ओर से प्राथमिक याचिकाकतार्ओं द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि गोवा के एडवोकेट जनरल देवीदास पंगम ने अदालत को आश्वासन दिया था कि प्रशासनिक आदेश संशोधित किए जाएंगे और एचसी के आदेशों के अनुरूप होंगे. 

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 11 May 2021, 04:00:39 PM
bombay high court

बांबे हाई कोर्ट (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • बॉम्बे हाई कोर्ट ने गोवा सरकार को लगाई फटकार
  • कोविड गाइड लाइन को संसोधित करने पर लगाई फटकार
  • 18 से ज्यादा उम्र के लोगों को आइवरमेक्टिन दवा देगी सरकार

मुंबई:

गोवा में बॉम्बे हाईकोर्ट की बेंच ने मंगलवार को राज्य में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों के लिए कोविड को निगेटिव प्रमाणपत्र अनिवार्य करने के अपने आदेश को संशोधित करने के लिए जिला प्रशासन को फटकार लगाई. राज्य के दो जिला मजिस्ट्रेटों ने सिर्फ पर्यटकों के लिए कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र को अनिवार्य बताया था. हालांकि इसके एक दिन पहले हाईकोर्ट ने कोविड निगेटिव सर्टिफिकेट सबके लिए अनिवार्य बताया था. दक्षिण गोवा एडवोकेट्स एसोसिएशन की ओर से प्राथमिक याचिकाकतार्ओं द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि गोवा के एडवोकेट जनरल देवीदास पंगम ने अदालत को आश्वासन दिया था कि प्रशासनिक आदेश संशोधित किए जाएंगे और एचसी के आदेशों के अनुरूप होंगे. 

बयान में कहा गया है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति और उपलब्धता के संबंध में, उच्च न्यायालय ने गोवा मेडिकल कॉलेज के डीन, स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक और गोवा एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टरों को गोवा मेडिकल कॉलेज में आपूर्ति और ऑक्सीजन की उपलब्धता के मुद्दे पर एक हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया है. बयान में कहा गया है कि गोवा सरकार को कोविड प्रबंधन के अन्य पहलुओं पर हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया गया है जिसमें एंबुलेंस, हार्स वैन, बेड की संख्या में वृद्धि, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंःदिल्ली की आप सरकार पर मीनाक्षी लेखी का हमला, ऑक्सीजन को लेकर कही ये बात

हाल ही में गोवा में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को आइवरमेक्टिन (ivermectin) दवा देने की घोषणा की गई है. गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने सोमवार को बताया कि राज्य सरकार ने नए कोविड ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल को मंजूरी देते हुए 18 वर्ष से ज्यादा आयु के सभी लोगों को आइवरमेक्टिन दवा की 5 गोलियां लेने की सलाह दी है. गोवा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 'मैंने प्रोफिलैक्सिस (बीमारी को रोकने के लिए की गई कार्रवाई) के तुरंत कार्यान्वयन के निर्देश दिए हैं.' मंत्री ने कहा कि यह इलाज कोरोना संक्रमण को नहीं रोकेगा लेकिन यह गंभीरता को कम करने में मदद कर सकता है.

यह भी पढ़ेंःनई सरकार का पहला काम कोविड से लड़ना : असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा

सावंत ने जनता से बाजारों में भीड़ इकट्ठा नहीं करने की अपील करते हुए कहा था, 'अगले 15 दिनों में, भले ही जनता कर्फ्यू हो, सभी किराने की दुकान और जरूरी सामान बेचने वाले स्टोर खुले रहेंगे. मैं लोगों से अपील करता हूं कि जल्दबाजी न करें. कोरोना फैलने का खतरा है. राज्य स्तर का कर्फ्यू 9 मई को सुबह 7 बजे से 23 मई तक लागू रहेगा. गोवा में वर्तमान में 51 प्रतिशत से अधिक की पॉजिटिव दर है, जो देश में सबसे ज्यादा है. बीते शुक्रवार को, 8,170 लोगों ने अपना कोविड परीक्षण करवाया था, जिसमें से 4,195 लोगों का कोरोना पॉजिटिव आया था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 May 2021, 04:00:11 PM

For all the Latest States News, Goa News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो