News Nation Logo
Banner

पूर्व सीएम पर्रिकर मुझे 'लंबी रेस का घोड़ा' मानते थे : गोवा सीएम सावंत

पर्रिकर को गोवा में 'भाई' के रूप में जाना जाता था. सावंत ने कहा, मुझे अब भी वो सवाल याद है. भाई ने उनसे कहा था- 'ये लंबी रेस का घोड़ा है.' वह मेरी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस थी. मुझे नहीं पता कि भाई ने उस समय मुझमें क्या देखा था.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 24 Apr 2021, 05:52:24 PM
pramod savant goa cm

गोवा सीएम प्रमोद सावंत (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • पर्रिकर ने मुझे लंबी रेस का घोड़ा बताया थाः सावंत
  • गोवा में जारी है कोरोना वायरस संक्रमण का कहर
  • गोवा सरकार ने रोकी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

नयी दिल्ली:

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शनिवार को कहा कि वर्षो पहले, जब उन्होंने राजनीति में अपनी अपनी पारी की शुरुआत की थी, उनके गुरु और पूर्ववर्ती, दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने उनकी पहचान 'लंबी दौड़ का घोड़ा' के रूप में की थी. शनिवार को अपने जन्मदिन के अवसर पर एक टीवी साक्षात्कार के दौरान सावंत ने यह भी कहा कि उन्होंने विधायक के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान विधानसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री बनने का सपना नहीं देखा था. सावंत ने कहा, मुझे भाई का एक बयान याद है. 2008 में, जब मुझे मीडिया के सामने पेश किया गया था, तो एक मीडियाकर्मी ने उनसे मेरे ओर इशारा करते हुए पूछा था, आपने अमोनकर के बदले इन्हें टिकट क्यों दिया है?

सुरेश अमोनकर राज्य के पूर्व भाजपा अध्यक्ष थे, जिन्हें भाजपा नेतृत्व ने उपचुनाव में टिकट देने से इनकार कर दिया था और उनके बजाय सावंत को टिकट दिया. पर्रिकर को गोवा में 'भाई' के रूप में जाना जाता था. सावंत ने कहा, मुझे अब भी वो सवाल याद है. भाई ने उनसे कहा था- 'ये लंबी रेस का घोड़ा है.' वह मेरी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस थी. मुझे नहीं पता कि भाई ने उस समय मुझमें क्या देखा था. मैंने भी नहीं सोचा था कि इस उम्र में, विधायक के रूप में मेरे दूसरे कार्यकाल में, मैं स्पीकर और मुख्यमंत्री बनूंगा. मैंने इस बारे में कोई सपना नहीं देखा था. सावंत जो सनक्विलीम विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं, शनिवार को 48 साल के हो गए. वहे 2019 में पर्रिकर की जगह मुख्यमंत्री बने थे.

कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोकी गई बोर्ड परीक्षाएं
आपको बता दें कि इसके पहले गोवा में भी कोरोना वायरस ने अपना आतंक फैला दिया था. राज्य के मुख्यमंत्री  प्रमोद सावंत ने कोरोना के बढ़ते विस्तार को रोकने के लिए गोवा में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया है. मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कोरोना वायरस संक्रमण को काबू में रखने के लिए राज्य में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है. गोवा बोर्ड ने 10 वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं. परीक्षा आयोजित करने से 15 दिन पहले बोर्ड छात्रों और अभिभावकों को सूचित करेगा. वहीं राज्य में सरकार ने कैसिनो, रेस्तरां, बार और सिनेमा हॉल 50 प्रतिशत क्षमता पर काम करने की अनुमति दी है.

गोवा में बढ़ी टेस्टिंग, कोविड के मामलों में बढ़ोत्तरी
सावंत ने कहा, मामले बढ़ रहे हैं क्योंकि हम अभी ज्यादा टेस्ट कर रहे हैं. पहले हम 2,000 का टेस्ट कर रहे थे, अब यह लगभग 3,200 हैं. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि गोवा में कोविड-19 के कारण मृत्यु दर बढ़ रही है. बुधवार को कोविड -19 से 26 व्यक्तियों की मृत्यु हो गई, क्योंकि मरीज खुद को अस्पतालों में भर्ती करने के लिए देरी कर रहे थे. सावित्री ने कहा, लोग देर से आ रहे हैं. वे घर पर डर कर बैठे हैं. उन्हें इसके बजाय भर्ती होना चाहिए. हम अंतिम चरण में कुछ नहीं कर सकते. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कोविड की दूसरी लहर 50 साल से कम उम्र के लोगों को प्रभावित कर रही है.

First Published : 24 Apr 2021, 05:40:25 PM

For all the Latest States News, Goa News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.