logo-image
लोकसभा चुनाव

Swati Maliwal Assault Case: CM आवास पर प्रिंटर-लैपटॉप के साथ पहुंची दिल्ली पुलिस, CCTV का DVR जब्त कर ले गई

Swati Maliwal Assault Case: स्वाति मालीवाल से मारपीट मामले में जांच को लेकर दिल्ली पुलिस सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंची, यहां से फुटेज को लेकर कई चीजें अपने साथ ले गई.

Updated on: 19 May 2024, 05:22 PM

नई दिल्ली:

सांसद स्वाति मालीवाल की कथित पिटाई के मामले में दिल्ली पुलिस ताबड़तोड़ एक्शन ले रही है. एक बार फिर सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पर जांच आरंभ हो गई है. पुलिस की टीम ने रविवार को सीएम आवास पर प्रिंटर, लैपटॉप लेकर पहुंची. वहीं टीम यहां से सीसीटीवी का डीवीआर अपने साथ लेकर बाहर आ गई. इससे पहले भी पुलिस सीसीटीवी फुटेज ली थी. पुलिस सूत्रों के अनुसार, घटना के समय का फुटेज प्राप्त नहीं हुआ है. पुलिस का कहना है कि बिभव जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. 

इस पहले दिल्ली पुलिस की ओर से पेश अतिरिक्त लोक अभियोजक अतुल श्रीवास्वत ने ​बिभव कुमार की हिरासत पर बहस करते हुए अदालत को बताया ​कि हमने डीवीआर मांगा, हमें पेन ड्राइव दे दिया गया. इसमें फुटेज खाली पाई गई. पुलिस को आईफोन दिया गया है, मगर अब आरोपी पासवर्ड नहीं बता रहा. फोन को फॉर्मेट कर दिया गया. अपर लोक अभियोजक का कहना है कि आरोपी घटना स्थल पर मौजूद था. दिल्ली पुलिस को ऐसी आशंका है कि सीसीटीवी से छेड़छाड़ की गई है. 

बिभव ने फोन किया फॉर्मेट 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस पांच दिन की रिमांड के दौरान बिभव को लेकर मुंबई जाएगी. ऐसे आरोप हैं कि बिभव ने फोन को फॉर्मेट किया. पुलिस को उम्मीद है कि शायद बिभव ने फॉर्मेट करने से पहले फोन के डेटा को डंप कर दिया. ऐसा कहा जा रहा है कि मुंबई में जिस जगह पर फोन को फॉर्मेट किया गया. वहीं जाने पर डंप किया हुआ डेटा वापस मिल सकता है. 

फॉर्मेट करने से पहले डेटा को सेव किया जाता है

पुलिस के अनुसार, अगर किसी तरह के डेटा को मिटाना न हो तो अकसर फोन फॉर्मेट करने से पहले डेटा को सेव किया जाता है. इस डेटा को रिकवर करने के लिए पुलिस फॉरेंसिक एक्सपर्ट की सहायत ले रही है. इसके अलावा, पुलिस बिभव को क्राइम स्पॉट यानी सीएम आवास पर ले जाएगी. यहां पर उसका प्रयास होगा कि मारपीट की वजह जानी जाए. यह घटना 13 मई सुबह की है. जब वह सीएम केजरीवाल के घर पर पहुंची थीं. स्वाति मालिवाल की ओर दर्ज शिकायत के अनुसार, वह सीएम से मिलने के लिए 13 मई की सुबह उनके घर गई थीं. वह इससे पहले सीएम के कैंप ऑफिस में गईं. यहां पर उन्होंने सीएम के पीएस बिभव कुमार को कॉल लगाई. मगर बात नहीं हो सकी.

व्हाट्स एप मैसेज भी सेंड किया

उन्होंने बिभव के मोबाइल नंबर पर व्हाट्स एप मैसेज भी सेंड किया. मगर कोई जवाब नहीं मिला. इसके बाद वे मुख्य दरवाजे से होते हुए सीएम केजरीवाल के घर में चली गईं.यहां पर उन्हें ड्राइंग रूम में बैठने को कहा गया. ये बताया गया कि सीएम घर पर नहीं हैं. वे जल्द उनसे मिलने के लिए आएंगे. इससे पहले पीएस बिभव कुमार धक्के के साथ कमरे में घुस गया. उसने बिना किसी उकसावे गाली गलौज करने लगा. इसके बाद मारपीट शुरू कर दी. आरोप है कि स्वाति को बिभव ने लगातार 7-8 थप्पड़ मारे, जिससे वो बुरी तरह से घबरा गईं. इसके बाद सहायता के लिए चीखने लगीं. उन्होंने किसी तरह से बिभव को दूर किया.