News Nation Logo

Omicron से निपटने के लिए दिल्ली सरकार अलर्ट, बिना RTPCR टेस्ट के प्रवेश नहीं  

MOHIT RAJ DUBEY | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 02 Dec 2021, 01:03:35 PM
satendrajain

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Photo Credit: twitter)

नई दिल्ली:  

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक बयान में कहा है कि नए कोरोना वेरिएंट ओमिक्रोन से निपटने के लिए सरकार पूरी तरह से तैयार है. इसके लिए लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में एक समर्पित कोरोना केंद्र स्थापित किया गया है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने उच्च खतरे वाले देशों से आने वाले सभी लोगों की RTPCR टेस्ट करने, संक्रमण की पुष्टि होने पर जीनोम सिक्वेंसिंग करने और केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार यात्रियों को अनिवार्य रूप से क्वारंटीन में भेजने का निर्णय लिया है. दिल्ली में कोरोना अभी कंट्रोल में है, लेकिन ओमिक्रॉन नई चिंता है.

पहले भी दिल्ली  में कोरोना बाहर से आने वालों के कारण ही फैला था. इसलिए प्रभावित देशों से जो भी फ्लाइट आ रही है, उनसे आने वालों का एयरपोर्ट पर RTPCR टेस्ट किया जा रहा है. अभी तक ऐसे 4 मरीन RTPCR पॉजिटिव पाए गए और 4 ऐसे हैं, जो ऐसे लोगों के सम्पर्क में आए थे, इनका दोबारा टेस्ट किया गया है और इन सभी 8 को LNJP में आइसोलेशन में रखा गया है. इनका सैम्पल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट 3-4 दिन में आएगी. यूरोप के ज्यादा लोग हैं, बेल्जियम नीदरलैंड और यूके के लोग भी हैं, चूंकि यूरोप में डेल्टा भी है इसलिए जीनोम सिक्वेंसिंग की रिपोर्ट का इंतजार करना होगा. 

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस के ओमिक्रोन प्रकार से संक्रमित म​रीजों के इलाज के लिए लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल को निर्दिष्ट किया है. अस्पताल को निर्देश दिया गया है कि ऐसे मरीजों को क्वारंटीन में रखने और उनका इलाज करने के लिए वार्डों का निर्धारण किया जाए. जैन ने ट्वीट कर कहा​ कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के नए प्रकार के कोरोना वेरिएंट ओमिक्रोन से लड़ने के लिए पूरी तरह से सतर्क है. इसे डब्ल्यूएचओ ने चिंताजनक बताया है. 

पिछली DDMA मीटिंग में वैक्सीनेशन के एडवांटेज डिसएडवांटेज को लेकर डिस्कशन हुआ था. बाहर से आने वाले लोग तो बिना वैक्सीनेशन के नही आ रहे हैं. दिल्ली के स्कूलों में पहले से टीचर्स और स्टाफ्स की एंट्री के लिए वैक्सीनेटेड होना अनिवार्य कर दिया गया है. इसपर (बिना वैक्सीनेशन वालों की पब्लिक प्लेसेज में एंट्री बंद करने पर) विचार चल रहा है, चर्चा की जाएगी, जैसा फैसला होगा बताएंगे. 

2.25 करोड़ वैक्सीन की डोज दी गई

दिल्ली में अब तक 2.25 करोड़ वैक्सीन की डोज दी गई है. इसमें 137.94 लाख लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज ली है. वहीं 87.05 लाख लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है. 45 वर्ष से अधिक उम्र के 42.14 लाख लोगों को एक डोज दी जा चुकी है. वहीं 31.44 लाख लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी है. 

First Published : 02 Dec 2021, 12:56:02 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.