News Nation Logo

BREAKING

Banner

दिल्ली में राष्ट्रीय औसत से कम वैक्सीनेशन पर सत्येंद्र जैन ने बताई ये वजह

केंद्र ने पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र को चिट्ठी लिख राष्ट्रीय औसत से भी पीछे चलने की बात कही है. अब दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कम वैक्सीनेशन के पीछे केंद्र सरकार के अस्पतालों को जिम्मेदार ठहराया है.  

Written By : मोहित बख्शी | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 08 Apr 2021, 11:08:18 AM
Satyendra Jain

राष्ट्रीय औसत से कम वैक्सीनेशन पर सत्येंद्र जैन ने बताई ये वजह (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • केंद्र ने महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली को कम वैक्सीनेशन पर लिखी चिट्ठी
  • सत्येंद्र जैन ने कम वैक्सीनेशन पर केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया

नई दिल्ली:

देश में एक तरफ कोरोना के मामले रिकॉर्ड रफ्तार से बढ़ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ केंद्र और राज्यों के बीच वैक्सीनेशन को लेकर जंग तेज हो गई है. महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश समेत अन्य कुछ राज्यों ने वैक्सीन की कमी की बात कही, तो अब केंद्र सरकार की ओर से कुछ राज्यों को वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार को लेकर चिट्ठी लिख दी गई है. केंद्र ने पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र को चिट्ठी लिख राष्ट्रीय औसत से भी पीछे चलने की बात कही है. अब दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कम वैक्सीनेशन के पीछे केंद्र सरकार के अस्पतालों को जिम्मेदार ठहराया है.  

यह भी पढ़ेंः कोरोनाः किस राज्य में लॉकडाउन और कहां लगा नाइट कर्फ्यू? जानें यहां

दिल्ली में राष्ट्रीय औसत से कम वैक्सीनेशन पर केंद्र द्वारा लिखी चिठ्ठी पर सत्येंद्र जैन कहा कि केंद्र सरकार के अस्पतालों में वैक्सीनेशन कम हो रहा है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन का अभी 4-5 दिन का स्टॉक है. इन चीजों में हमें मिलकर लड़ना चाहिए. केंद्र सरकार आरोप लगा रही है कि दिल्ली में वैक्सीनेशन कम हो रहा है. ऐसे तो हम भी कह सकते हैं कि केंद्र सरकार के जो हॉस्पिटल हैं उसकी वजह से वैक्सीनेशन कम हुआ है. वहां तो 30-40 फीसद वैक्सीनेशन हुआ है उसकी वजह से सारा प्रतिशत कम हुआ है. ऐसा नहीं इस बात को छोड़ देना चाहिए. जितने लोगों ने भी कराया है हमने किसी को मना नहीं किया. दिल्ली में अगर 75 फीसद भी हुआ है और केंद्र के अस्पतालों में 30 फीसद हुआ है तो ये मुद्दा नहीं है. मुद्दा ये है कि जल्द से जल्द हमें लोगों को वैक्सीनेट करना है. हमें इस झगड़े में पड़ने की ज़रूरत नहीं है. 

यह भी पढ़ेंः  Alert: पहली बार एक दिन में 1.26 लाख से अधिक Corona केस, कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू

दरअसल महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश समेत अन्य कुछ राज्यों ने वैक्सीन की कमी की बात कही, तो अब केंद्र सरकार की ओर से कुछ राज्यों को वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार को लेकर चिट्ठी लिख दी गई है. केंद्र ने पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र को चिट्ठी लिख राष्ट्रीय औसत से भी पीछे चलने की बात कही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मनोहर अगनानी ने पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र के प्रिंसिपल सेक्रेटरी को चिट्ठी लिखी है, जिसमें वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार पर सवाल उठाए हैं. दिल्ली को लेकर कहा गया है कि अभी तक 23,70,710 डोज़ दी गई हैं, जिनमें से 18,70,662 का इस्तेमाल हुआ है और इनमें वेस्टेज भी शामिल है. दिल्ली हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहली और दूसरी डोज़ देने के मामले में राष्ट्रीय औसत से काफी पीछे है. अगर पंजाब की बात करें तो यहां अभी तक 22,36,770 भेजी गई हैं, जबकि सिर्फ 14,94,663 का इस्तेमाल हुआ है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि राज्यों को अपने यहां वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाना होगा, हेल्थवर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर को वैक्सीन देने की सख्त जरूरत है क्योंकि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ये लड़ाई में सबसे आगे हैं. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 08 Apr 2021, 11:08:18 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.