News Nation Logo
Banner

अरविंद केजरीवाल-केंद्र सरकार के बीच छिड़ी जंग, कहा- प्रदूषण कम करने का पूरा श्रेय मोदी सरकार को

वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रदूषण रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम को गिनाया

By : Sushil Kumar | Updated on: 07 Oct 2019, 07:21:14 PM
प्रकाश जावड़ेकर और अरविंद केजरीवाल

प्रकाश जावड़ेकर और अरविंद केजरीवाल (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

दिल्ली में मुख्यमंत्री केजरीवाल और केंद्र सरकार एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं. केजरीवाल वर्सेज केंद्र का कनफ्लिक्ट तो जगजाहिर है. इस बार दोनों के बीच टकराव कामों का श्रेय लेने को है. देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण कम करने को लेकर केजरीवाल और केंद्र सरकार में श्रेय लेने का टकराव शुरू हो गया है. दोनों के बीच जुबानी जंग जारी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर तंज कसा है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि दिल्ली में प्रदूषण कम हुआ, इस पर किसी का एकाधिकार नहीं है. ये सभी की मेहनत से हुआ है. उन्होंने कहा कि इसका सारा श्रेय बीजेपी और केंद्र सरकार को जाता है.

यह भी पढ़ें- इस उम्र के बाद चुस्त और दुरुस्त रहना चाहते हैं तो शारीरिक संबंध से न बनाएं दूरियां 

केजरीवाल यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि दिल्ली में सस्ती बिजली और मोहल्ला क्लीनिक का भी श्रेय बीजेपी और केंद्र सरकार को जाता है. अब उनसे निवेदन है कि आगे वो हरियाणा और पंजाब से पराली का धुआं भी रुकवा दें. अरविंद केजरीवाल और केंद्र के बीच टकराव तब शुरू हुआ जब केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रदूषण कम करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से उठाए गए बहुत सारे कार्यक्रम गिनाए. इसके बाद केजरीवाल और केंद्र सरकार के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई. प्रकाश जावड़ेकर ने अरविंद केजरीवाल पर कहा कि तू-तू मैं-मैं नहीं करना चाहता हूं, सिर्फ काम करना चाहिए.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- अर्थव्यवस्था के ऊपर नहीं हो रहा कोई काम, GDP विकास दर 5 फीसदी से भी कम

वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रदूषण रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम को गिनाया. उन्होंने कहा कि इस कदम से दिल्ली-एनसीआर में हवा की स्थिति में काफी हद तक सुधार हुआ है. वहीं, दूसरी ओर अरविंद केजरीवाल भी दिल्ली में बेहतर वायु गुणवत्ता का श्रेय लेते हुए बड़े-बड़े विज्ञापन करवा रहे हैं. प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि अक्टूबर से ही दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण बढ़ रही है. 2006 से दिल्ली की हवा तेजी से बिगड़ी रही है, लेकिन 2014 तक न तो इस बारे में बात की गई थी और न ही इसे सुधारने के लिए कुछ काम किया गया था. 2015 में पीएम नरेंद्र मोदी ने एनसीआर में हवा के क्वालिटी जांचने के लिए 113 मॉनिटरिंग सेंटर लगाए हैं.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस-NCP ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए संयुक्त घोषणा पत्र जारी की

प्रकाश जावड़ेकर ने आगे कहा कि 1 अप्रैल 2020 तक बीएस 6 (BS6) बाइकें आएंगी. यूरो 3 से यूरो 4 पर आए. दिल्ली में बाईपास का काम हुआ है, जिससे 40 हजार ट्रक बाहर-बाहर से जाते हैं. मोटर व्हीकल एक्ट की वजह से भी हवा बदली है. इसके साथ ही नए 500 सीएनसी पंप लगे हैं. 300 इलेक्ट्रिक बस और मेट्रो के लिए 100 बस दी गई है. पवार प्लांट बदरपुर बंद करने से प्रदूषण कम हुआ. 272 उद्योगों पीएमजी लगाया गया है. वहीं अरविंद केजरीवाल दिल्ली में दिवाली बाद बढ़े प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए ही केजरीवाल सरकार ने इस बार नवंबर में ऑड-इवन योजना का ऐलान किया है.

First Published : 07 Oct 2019, 07:17:32 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×