News Nation Logo
Banner

हैदराबाद रेप पीड़िता की पहचान उजागर करने के लिए Media Houses के खिलाफ याचिका दायर की गई

दिल्ली उच्च न्यायालय में मंगलवार को एक याचिका दाखिल की गई जिसमें हैदराबाद में रेप और हत्या के मामले में मीडिया घरानों पर महिला पशु चिकित्सक की पहचान उजागर करने पर कानून के कथित उल्लंघन का आरोप लगाया गया है.

Bhasha | Updated on: 04 Dec 2019, 09:30:47 AM
Hyderabad Rape Case,

Hyderabad Rape Case, (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

दिल्ली:

दिल्ली हाईकोर्ट में मंगलवार को एक याचिका दाखिल की गई जिसमें हैदराबाद में रेप और हत्या के मामले में मीडिया घरानों पर महिला पशु चिकित्सक की पहचान उजागर करने पर कानून के कथित उल्लंघन का आरोप लगाया गया है. याचिका पर सुनवाई बुधवार को होगी. मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ मामले की सुनवाई करेगी.

और पढ़ें: केवल भारत को छोड़कर इन देशों में दुष्कर्म के दोषियों को दी जाती है खौफनाक सजा, सुन कांप उठेगी रूह

दिल्ली के वकील यशदीप चहल की ओर से दाखिल याचिका में कहा गया है कि याचिका का मकसद रेप पीड़िता की पहचान उजागर करने के चलन पर लगाम लगाना है. यह आईपीसी की धारा के अलावा सुप्रीम कोर्ट के पूर्व के कई फैसलों का उल्लंघन भी है.

अधिवक्ता चिराग मदान और साई कृष्ण कुमार की आरे से दाखिल याचिका में आरोप लगाया गया है कि राज्य पुलिस अधिकारियों ने और उनके साइबर सेल ने पीड़िता और आरोपियों की लगातार पहचान उजागर होने को रोकने के लिए कुछ नहीं किया.

और पढ़ें: हैदराबाद गैंगरेप : आरोपियों ने जान-बूझकर पंचर की थी पीड़िता की स्‍कूटी, मदद के बहाने की वारदात

गौरतलब है कि हैदराबाद के एक सरकारी अस्पताल में सहायक पशु चिकित्सक के तौर पर काम करने वाली युवती का जला हुआ शव 28 नवंबर की सुबह शादनगर में एक पुलिया के नीचे से बरामद किया गया था. गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी. 

First Published : 04 Dec 2019, 09:30:47 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×