News Nation Logo

अब अगर दिल्ली में फैलाई अफवाह तो खैर नहीं, इतने साल के लिए जाएंगे सलाखों के पीछे

केजरीवाल सरकार ने सख्त कदम उठाया है. आप विधायक (AAP MLA)सौरभ भारद्वाज ने कहा कि अगर कोई अफवाह फैलाते हुए पाया गया तो 3 साल की सजा हो सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 02 Mar 2020, 04:52:22 PM
Saurabh Bhardwaj

सौरभ भारद्वाज (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के बाद सरकार और पुलिस प्रशासन दोनों सावधानी बरत रही है. दिल्ली में फिर से दोबारा दंगा ना फैले इसे लेकर कड़ी कार्रवाई की जा रही है. रविवार को अफवाहों के चलते कई इलाकों में तनाव की स्थिति बनी रही. जिसके बाद अफवाहों पर लगाम कसने के लिए केजरीवाल सरकार ने सख्त कदम उठाया है. आप विधायक (AAP MLA)सौरभ भारद्वाज ने कहा कि अगर कोई अफवाह फैलाते हुए पाया गया तो 3 साल की सजा हो सकती है.

दिल्ली में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए 9 सदस्यीय 'शांति और सद्भाव समिति' का गठन किया गया है. दिल्ली विधानसभा में 'शांति और सद्भाव समिति' का गठन किया है. इसकी अध्यक्षता AAP विधायक सौरभ भारद्वाज करेंगे, इस समिति में AAP विधायक आतिशी और राघव चड्ढा भी शामिल हैं. 'शांति और सद्भाव समिति' की 3 बजे बैठक हुई.

कमेटी एक नंबर भी जारी करेगी जिस पर ऐसे मैसेज की शिकायत की जा सकेगी

बैठक के बाद सौरभ भारद्वाज, 'कमेटी बड़े स्तर पर प्रचाारित करेगी कि अगर कोई भी सोशल मीडिया पर फेक मैसेज जो दो समुदायों के बीच दुश्मनी फैलाता है उसे शेयर,रीट्वीट,फारवर्ड करते हैं तो इससे आपको 3 साल की सज़ा हो सकती है. कमेटी एक नंबर भी जारी करेगी जिस पर ऐसे मैसेज की शिकायत की जा सकेगी.'

इसे भी पढ़ें:सावधान! दिल्ली में कोरोना की दस्तक, ये हैं कोरोना वायरस से बचने के 10 उपाय

उन्होंने बताया कि अगर किसी को ऐसा कोई ट्वीट या मैसेज मिलता है तो विधानसभा की कमेटी को भेजे. कमेटी इसके लिए फ़ोन नंबर जारी करेगी. कमेटी लीगल एक्सपर्ट की टीम रखेगी. एक एजेंसी को कमेटी हायर करेगी जो बतायेगी की खबर नकली है या असली.

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि पुलिस के रिटायर अधिकारियों की भी मदद लेंगे. हिन्दू और मुस्लिम दोनों कम्युनिटी में ऐसे लोग हैं जो ऐसी बातों को फैला रहे हैं. ग्रुप में ऐसे मैसेज आते हैं. आरडब्ल्यूए के ग्रुप में भी ऐसे मैसेज चलते हैं.

उन्हें 10 हजार रुपए बतौर इनाम देगी सरकार

सौरभ भारद्वाज ने आगे बताया जो लोग अफवाह फैलाने या हिंसा की योजना बनाने वालों की जानकारी देता है तो समिति उसे प्रोत्साहन देगी. उन्हें 10 हजार रुपए बतौर इनाम देगी.

और पढ़ें:दिल्ली हिंसा: मोदी सरकार मोटी चमड़ी की सरकार है, बोले कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल

जिन्होंने दूसरो की मदद की सम्मानित करने का सुझाव दिया गया 

जिन लोगों ने मजहब की दीवार लांघकर एक दूसरे की मदद की. उन्हें भी सम्मानित करने का सुझाव दिया गया है. व्हाट्सअप ट्वीट फेस बुक के अधिकारियों से मिलेंगे. उनसे भी इसकी रोकथाम के उपाय पूछेंगे. कल दोबारा कमेटी की बैठक करेंगे आज के सुझाव पर चर्चा करेंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 Mar 2020, 04:52:22 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.