News Nation Logo
Banner

मां-बाप पर ही शक करने लगा था बेटा, फिर एक दिन चाकुओं से गोदकर उतार दिया मौत के घाट

गुरुग्राम पुलिस मे हत्यारे बेटे को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में गुरुग्राम के ही भोंडसी जेल भेज दिया गया है.

By : Sunil Chaurasia | Updated on: 26 Sep 2019, 06:25:31 AM
सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली:

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में हत्या के एक बेहद ही संगीन मामले को अंजाम दिया गया है. यहां के शिवाजी नगर में रहने वाले मानसिक रूप से कमजोर शख्स ने अपने ही माता-पिता को चाकुओं से गोद दिया. इस वारदात में शख्स के पिता की मौत हो गई जबकि मां की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है. हत्या के इस सनसनीखेज मामले में पुलिस ने हत्यारे कलयुगी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की गिरफ्त में आए हत्यारे बेटे ऋषभ (33) ने बताया कि उसके माता-पिता छोटे भाई को ज्यादा मानते थे. इतना ही नहीं ऋषभ को शक था कि उसके माता-पिता ने उसके ऊपर काला जादू कराया है, जिसकी वजह से उसने ये खौफनाक कदम उठाया. ऋषभ ने पुलिस को बताया कि उसके माता-पिता द्वारा काला जादू कराए जाने की वजह से ही उसकी मानसिक हालत खराब हुई.

ये भी पढ़ें- जनवरी में भारत के दौरे पर 3 मैचों की टी-20 सीरीज खेलेगा श्रीलंका, यहां देखें पूरा शेड्यूल

गुरुग्राम पुलिस मे हत्यारे बेटे को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में गुरुग्राम के ही भोंडसी जेल भेज दिया गया है. पूरा मामला सोमवार की शाम का है. ऋषभ के छोटे भाई मयंक ने बताया कि वह आए दिन घर में मां चंद्र और पिता सुशील (65) के साथ-साथ उसके साथ भी झगड़ा किया करता था. मयंक ने बताया कि ऋषब ने सोमवार की शाम को करीब 6 बजे से घर में झगड़ा करना शुरू कर दिया था. मयंक को लगा कि उसका बड़ा भाई रोज की तरह ही झगड़ा कर रहा है इसलिए वह इसे सामान्य झगड़ा समझकर माता-पिता को घर पर अकेला छोड़कर सेब खरीदने के लिए बाजार चला गया था.

ये भी पढ़ें- ICC T20 Rankings: रोहित, विराट जैसे दिग्गजों को पछाड़कर आगे पहुंचा अफगानिस्तान का ये बल्लेबाज

घर पर मयंक की गैर-मौजूदगी में ही ऋषभ ने सबसे पहले तो धारदार चाकू से मां पर हमला किया. हमले के दौरान ही अपनी पत्नी को बचाने के लिए वहां सुशील भी आ गए. मां के साथ खूंखार झगड़े के बीच में जैसे ही पिता आए, ऋषभ भड़क उठा और उसने अब मां को छोड़कर पिता पर चाकू से ताबड़तोड़ हमले करना शुरू कर दिया. ऋषभ ने अपने पिता पर करीब 12 बार चाकू से हमला किया. डॉक्टरों ने बताया कि सुशील की गर्दन में चाकू के वार से करीब 20 सेंटीमीटर गहरी चोट आई थी जिसकी वजह से उनकी सांस लेने वाली नली कट गई थी. सांस की नली कटने की वजह से ही उनकी मौत भी हुई.

First Published : 25 Sep 2019, 09:41:55 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×