logo-image
लोकसभा चुनाव

MCD चुनाव परिणाम: बीजेपी की तीसरी जीत, AAP हुई साफ, तीसरे नंबर पर पहुंची कांग्रेस

बीजेपी एमसीडी में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज हुई है। वहीं दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को करारी शिकस्त मिली है। कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही।

Updated on: 27 Apr 2017, 07:09 AM

highlights

  • तीनों एमसीडी पर बीजेपी का कब्जा, आप दूसरे तो कांग्रेस तीसरे स्थान पर पहुंची
  • बीजेपी 270 में से 181 सीटों पर जीती, आप 48 तो कांग्रेस 30 सीटों पर जीती, अन्य को मिला 11 सीट
  • बीजेपी ने जीत के लिए पीएम मोदी को दिया श्रेय, आप ने ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज हुई है।

वहीं दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को करारी शिकस्त मिली है। कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही।

एमसीडी की 270 सीटों में से बीजेपी ने 181, आम आदमी पार्टी 48 और कांग्रेस 30 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं 11 सीट अन्य के खाते में गई है।

अलग-अलग नगर निगमों की बात करें तो उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) की 103 सीटों में से 64 पर बीजेपी को जीत हासिल हुई है।

जबकि दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) की 104 में से 70 सीटें बीजेपी की झोली में आई हैं। पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) की 63 में 47 सीटों पर भाजपा का परचम लहराया है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) 48 सीटें जीतकर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी रही। आप को एनएमडीसी में 21, एसडीएमसी में 16 और ईडीएमसी में 11 सीटों पर जीत मिली है।

कांग्रेस का प्रदर्शन काफी खराब रहा है। उसे कुल 30 सीटों पर जीत मिली है, जिसमें एनडीएमसी में 15, एसडीएमसी मे 12 सीटें और ईडीएमसी में मात्र तीन सीटें शामिल हैं।

दिल्ली नगर निगम चुनावों में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के तीन पार्षदों को जीत मिली है, जिसमें एक पार्षद एनडीएमसी से और दो पार्षद ईडीएमसी से हैं।

         2017 एमसीडी चुनाव परिणाम

पार्टी      कुल सीटों पर जीत  वोटिंग प्रतिशत
बीजेपी 181 36.18
कांग्रेस  30

21.11

आप 48 26.23
अन्य 11  

 

समाजवादी पार्टी (सपा) और भारतीय राष्ट्रीय लोक दल को एक-एक सीट पर जीत मिली है। इसके अलावा दिल्ली नगर निगम चुनाव में छह निर्दलीय पार्षद भी जीतकर आए हैं।

दिल्ली नगर निगम के कुल 272 वार्डो में से मौजपुर और सराय पिपलथला वार्डो में प्रत्याशियों के निधन के चलते मतदान नहीं हुआ।

बीजेपी ने इस जीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को श्रेय दिया है, जबकि आप ने एक बार फिर ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

एमसीडी चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अजय माकन ने पद से इस्तीफे की पेशकश की है, जबकि पार्टी की दिग्गज नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने पार्टी की हार के लिए स्थानीय नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है।

वहीं, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व आप नेता मनीष सिसोदिया ने चुनाव परिणामों के लिए 'ईवीएम में छेड़छाड़' को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, 'ईवीएम में छेड़छाड़ के बिना ऐसी बड़ी जीत संभव नहीं है।'

उन्होंने कहा कि यह 'अविश्वसनीय' है कि बीजेपी एमसीडी की सत्ता में पिछले 10 साल से काबिज रहने के बावजूद इतनी बड़ी जीत के साथ वापसी करे, वह भी तब जबकि उसने शहर के लिए कुछ भी ठोस नहीं किया।

आप की चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा देने की पेशकश की है।

दिग्गज नेताओं ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली नगर निगम में लगातार तीसरी बार बीजेपी की जीत के लिए ट्वीट कर बधाई दी। वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एमसीडी चुनाव में पार्टी के शानदार प्रदर्शन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तीन साल के कार्यकाल की जीत बताया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी बीजेपी को जीत के लिए बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'तीनों एमसीडी में जीत के लिए बीजेपी को बधाई। हमारी सरकार एमसीडी के साथ मिलकर दिल्ली की भलाई के लिए काम करने के लिए तैयार है।'

दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि पार्टी जीत का जश्न नहीं मनाएगी, क्योंकि यह जीत छत्तीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए सीआरपीएफ के 25 जवानों को समर्पित है।

एमसीडी चुनाव से जुड़ी हर बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें