News Nation Logo
Banner

कैप्टन कुमुद कुमार के नाम से जाना जाएगा पश्चिम विहार का प्रमुख मार्ग

पश्चिम विहार के ए-3 ब्लॉक का मार्ग अब वीर चक्र विजेता के नाम से जाना जाएगा. इस मार्ग का नाम अब वीर चक्र कैप्टन कुमुद कुमार होगा. कैप्टन कुमुद कुमार ने 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में अदम्य साहस और शौर्य का परिचय दिया था.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 02 Oct 2020, 02:08:07 PM
pjimage

कैप्टन कुमुद कुमार (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पश्चिम विहार (Pashchim Vihar) के ए-3 ब्लॉक का मार्ग अब वीर चक्र विजेता के नाम से जाना जाएगा. इस मार्ग का नाम अब वीर चक्र कैप्टन कुमुद कुमार होगा. कैप्टन कुमुद कुमार ने 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में अदम्य साहस और शौर्य का परिचय दिया था. इस युद्ध में कैप्टन कुमुद कुमार (Kumud Kumar) ने राजपूत रेजीमेंट की एक पलटन का नेतृत्व किया था. इस मार्ग का उद्घाटन शनिवार को किया जाएगा. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्धन और निगम पार्षद विनीत वोहरा इस मार्ग का उद्घाटन करेंगे. समारोह में नेता सदन उत्तरी दिल्ली नगर निगम योगेश वर्मा सहित स्थानीय लोग शामिल होंगे.

अगली पीढ़ी के लिए बनेंगे प्रेरणा
निगल अधिकारियों की मानें तो इस मार्ग का नाम एक वीर योद्धा के नाम पर रखे जाने से आने वाली पीढ़ियों में जोश का संचार पैदा होगा. कैप्टन कुमुद इस इलाके ही नहीं बल्कि देशभर के युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं. 1971 के युद्ध में उनके साहस को आज भी देश याद करता है. जब पाकिस्तान के सैनिक आगे बढ़ रहे थे तो कैप्टन कुमुद ने मशीनगन से उन पर भारी गोलीबारी शुरू कर दी. कैप्टन कुमुद ने अपनी जान की परवाह नहीं की और मशीन गन के अलावा दुश्मन के बंकर में ग्रेनेट हमला कर दुश्मन को हौंसले पस्त कर दिए. उसके अदम्य साहस के बल पर कैप्टन कुमुद की पलटन ने पूरे इलाके में अपना कब्जा कर लिया. उनके इस पराक्रम के लिए भारत सरकार द्वारा उन्हें वीर चक्र से सम्मानिक किया गया.

First Published : 02 Oct 2020, 02:08:07 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो