News Nation Logo
Banner

JNU के VC को हटाने को लेकर छात्र संघ-HRD आमने-सामने, जानें किसने क्या है कहा

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के वीसी एम जगदीश कुमार को पद से हटाने को लेकर एचआरडी और जेएनयू छात्र संघ आमने-सामने है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 09 Jan 2020, 07:56:36 PM
जेएनयू के वीसी एम जगदीश कुमार

जेएनयू के वीसी एम जगदीश कुमार (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

दिल्ली:  

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के वीसी एम जगदीश कुमार को पद से हटाने को लेकर एचआरडी और जेएनयू छात्र संघ आमने-सामने है. जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष (Aishi Ghosh) ने बृहस्पतिवार को कहा कि जब तक विश्वविद्यालय के कुलपति (वीसी) एम जगदीश कुमार (vice chancellor m jagadesh kumar) को हटाया नहीं जाता तब तक छात्र और संकाय नरम नहीं पड़ेंगे. मानव संसाधन विकास (HRD) अधिकारियों से मुलाकात के बाद उन्होंने यह टिप्पणी की.

यह भी पढ़ेंःPDP के वरिष्ठ नेता बेग का आरोप- महबूबा मुफ्ती के भड़काऊ बयानों से जम्मू-कश्मीर के साथ ऐसा हुआ

जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने आगे कहा कि उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से कुलपति को हटाने का अनुरोध किया है जिस पर उन्होंने कहा कि इस संबंध में शुक्रवार को बातचीत होगी. उन्होंने कहा, ‘वीसी को हटाने के मुद्दे पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय से कोई समझौता नहीं होगा. वह अब भी यही सोच रहा है कि वीसी को हटाया जाना चाहिए या नहीं.’

वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति एम जगदीश कुमार को हटाना समाधान नहीं है. मानव संसाधन विकास (एचआरडी) सचिव अमित खरे ने कहा कि मंत्रालय के अधिकारी छात्रों के इस दावे पर शुक्रवार को कुमार से फिर बात करेंगे कि संशोधित शुल्क को लागू नहीं किया जा रहा है.

सचिव अमित खरे नेव आगे कहा कि कुलपति को हटाया जाना समाधान नहीं है. उन्होंने कहा कि मंत्रालय के अधिकारी कुमार से मुलाकात के बाद जेएनयू छात्र संघ से भी बातचीत करेंगे.

वहीं, जेएनयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि पांच जनवरी को परिसर में हुए हमले में सुरक्षा चूक की जांच और छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सुझाव के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया गया है. नकाबपोश गुंडों के हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित कम से कम 35 लोग घायल हो गए थे.

यह भी पढ़ेंःJNU छात्र पर सख्त हुई दिल्ली पुलिस, राष्ट्रपति भवन से जाने से रोका; कई प्रदर्शनकारी हिरासत में

वीसी कुमार ने बताया कि अगर सुरक्षा में कोई चूक हुई है तो समिति उसकी भी जांच करेगी. उन्होंने बताया कि हमने पांच सदस्यों की समिति बनाई है जो कि हमारी आंतरिक सुरक्षा कमेटी के सहयोग से काम करेगी. अगर कोई चूक हुई है तो समिति उसपर भी गौर करेगी और परिसर में छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदमों पर सुझाव देगी.

कुमार ने आगे कहा कि सुरक्षा के लिहाज से कमजोर क्षेत्रों की पहचान की जाएगी, सीसीटीवी लगाया जाना सुनिश्चित होगा और छात्रों की सुरक्षा के लिए अन्य कदम पर भी समिति सुझाव देगी. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में रविवार को कुछ नकाबपोश गुंडों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला किया था जिसके बाद प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा था. हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी घायल हो गयी थीं. उन्हें एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था और सोमवार को उन्हें छुट्टी दे दी गयी थी.

First Published : 09 Jan 2020, 07:51:31 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.