News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

ग्रेटर नोएडा से जेवर तक होंगे 7 स्टेशन, 120 किमी की रफ्तार से दौड़ेगी मेट्रो, कवायद तेज 

ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो की कवायद तेज कर दी गई है. ग्रेटर नोएडा से जेवर के बीच कनेक्टिविटी को लेकर यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोर्शन (DMRC) को प्रारंभिक रिपोर्ट सौंप दी है.

Amit Choudhary | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 27 Oct 2021, 09:53:01 AM
NMRC

ग्रेटर नोएडा- जेवर तक होंगे 7 स्टेशन, DMRC तैयार करेगी डीपीआर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

ग्रेटर नोएडा:

ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो की कवायद तेज कर दी गई है. ग्रेटर नोएडा से जेवर के बीच कनेक्टिविटी को लेकर यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोर्शन (DMRC) को प्रारंभिक रिपोर्ट सौंप दी है. डीएमआरसी इस रूट के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) तैयार करेगा. नॉलेज पार्क-2 से लेकर जेवर एयरपोर्ट तक 35 किलोमीटर का रूट होगा. इस पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार वाला रूट तैयार होगा. जानकारी के मुताबिक ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक 7 स्टेशन होंगे. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और IGI एयरपोर्ट से मेट्रो रूट  को जोड़ा जाएगा. 

पूरा ट्रैक होगा एलिवेटेड 
ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक का ट्रैक एलिवटेड बनाया जाएगा. एयरपोर्ट के साथ ही इस मेट्रो को चलाने की तैयारी की जा रही है. जनपद का यह सबसे लंबा टैक होगा.  इसकी कुल लंबाई 35.64 किलोमीटर होगी. पहले इसे सामान्य मेट्रो बनाया जाना था. इसमें 25 स्टेशन बनाए जाने थे. लेकिन एयरपोर्ट के चलते शासन ने इसे एयरपोर्ट मेट्रो बनाने के लिए कहा है. इसके बाद डीएमआरसी ने यह काम शुरू किया है.

यह भी पढ़ेंः Petrol Diesel Rate Today: अक्टूबर में 20 दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के रेट, देखें आज की रेट लिस्ट

बुलेट ट्रेन से भी जुड़ेगा एयरपोर्ट 
दिल्ली से वाराणसी तक जो बुलेट ट्रेन चलाई जानी है, इसका कॉरिडोर जेवर हो कर निकलेगा. जानकारी के मुताबिक बुलेट ट्रेन का स्टेशन जेवर एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग में बनाने की तैयारी है. बुलेट ट्रेन का ट्रैक और मेट्रो का ट्रैक एलिवेटेड होगा. एक ही रास्ते से दो ट्रैक निकलने हैं, इसलिए डीएमआरसी इस बात का भी अध्ययन करेगी कि दोनों ट्रैक किस तरह से निकाले जाएं. 

डीएमआरसी इसके लिए दो विकल्प देने की तैयारी की है. पहला ग्रेटर नोएडा से दिल्ली तक नया कॉरिडोर बनाया जाए, जिससे एयरपोर्ट मेट्रो का अलग ट्रैक बन सके. दूसरा ग्रेटर नोएडा से नोएडा के बॉटनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक ट्रैक बनाया जाए. विस्तृत रिपोर्ट में इसकी पूरी डिटेल देने के लिए डीएमआरसी ने कहा है. अभी तक जिले में सबसे लंबा ट्रैक नोएडा-ग्रेनो मेट्रो का है, जो करीब 29.7 किलोमीटर है.

First Published : 27 Oct 2021, 09:53:01 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.