News Nation Logo

जून में 18-44 आयु वर्ग के लिए लगभग 5 लाख वैक्सीन दिल्ली को मिलेगीः सिसोदिया

एक डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, सिसोदिया ने कहा, केंद्र ने दिल्ली सरकार को सूचित किया है कि युवाओं के लिए टीकों की आपूर्ति जून में की जाएगी, लेकिन 10 जून से पहले नहीं. यह टीकों की एक छोटी खेप होगी.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 29 May 2021, 06:15:22 PM
Manish Sisodia

मनीष सिसोदिया (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • वैक्सीनेशन पर बोले उपमुख्यमंत्री सिसोदिया
  • जून में दिल्ली वासियों को मिलेगी 5 लाख डोज
  • दिल्ली में बंद है 18-44 वालों को वैक्सीनेशन

नई दिल्ली:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को घोषणा की कि राष्ट्रीय राजधानी को जून में 18-44 आयु वर्ग के लिए कोविड -19 वैक्सीन खुराक की अगली आपूर्ति मिलेगी. पिछले छह दिनों से, शहर में इस विशेष आयु वर्ग के टीकाकरण अभियान को सभी सरकारी केंद्रों पर रोक दिया गया है. एक डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, सिसोदिया ने कहा, केंद्र ने दिल्ली सरकार को सूचित किया है कि युवाओं के लिए टीकों की आपूर्ति जून में की जाएगी, लेकिन 10 जून से पहले नहीं. यह टीकों की एक छोटी खेप होगी. हालांकि, उन्होंने केंद्र पर दिल्ली के लोगों को निजी अस्पतालों में भुगतान करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया क्योंकि राज्य प्रशासन द्वारा मुफ्त टीकाकरण अभियान को रोक दिया गया है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली को 18-44 आयु वर्ग के लगभग 92 लाख लोगों के लिए टीकों की 1.84 करोड़ खुराक की जरूरत है. सिसोदिया ने कहा, 18-44 आयु वर्ग के लिए, केंद्र ने अप्रैल में टीके की 4.5 लाख खुराक प्रदान की थी, मई में 3.67 लाख खुराक और जून में लगभग 5 लाख खुराक की आपूर्ति की जाएगी. फिलहाल , केवल 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को ही टीका लगाया जा रहा है और उनके लिए भी रविवार से कोवैक्सिन स्टॉक उपलब्ध नहीं होगा. आप विधायक आतिशी ने शुक्रवार को प्रेस वालों से कहा कि जो कोई भी कोवैक्सिन की दूसरी खुराक चाहता है, चाहे वह 18-44 समूह में हो या 45 से अधिक समूह में, दिल्ली में इसकी कोई खुराक उपलब्ध नहीं है.

वहीं इसके पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने ये भी कहा था कि कोरोना के चक्र को तोड़ने के लिए वैक्सीन उपलब्ध कराना बेहद जरूरी था. दिल्ली में 18-45 साल के युवा की संख्या 92 लाख है, इनके लिए 1 करोड़ 84 लाख डोज की जरूरत है. इन युवाओं को कोरोना से बचाना है तो एक ही तरीका है इन्हें वैक्सीन लगाना है. केंद्र से पूछना चाहते हैं कि प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है, लेकिन राज्य सरकार को उपलब्ध नहीं करा रहे.
 
मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि हम फ्री में युवा को वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, लेकिन केंद्र ऐसा नहीं चाहती और प्राइवेट अस्पताल को वैक्सीन मुहैया करा रही है और वो 1200 रुपये वसूल रही है. सारा डेटा केंद्र को सामने रखना चाहिए किसे कितनी वैक्सीन दी जा रही है. उन्होंने आगे कहा कि शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल की बैठक हुई थी. मैंने वित्त मंत्री के तौर पर बात रखी है कि फिलहाल इस्तेमाल हो रहे मेडिकल सामान और वैक्सीन पर टैक्स न लिया जाए, लेकिन बीजेपी सरकार के कई राज्यों के वित्त मंत्री ने इसका विरोध किया. बीजेपी महामारी के इस समय में कमाई क्यों करना चाहती है.

डिप्टी सीएम सिसोदिया ने आगे कहा कि दिल्ली में युवाओं की वैक्सीन 10 जून से पहले उपलब्ध नहीं होगी. 18-44 साल के लोगों को अभी और इंतज़ार करना होगा. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार से मिली चिट्ठी के आधार पर जानकारी दी. केंद्र सरकार ने कल हमको बताया है कि अब युवाओं की जो वैक्सीन है (18-44 साल) वो जून में मिलेगी, लेकिन 10 जून से पहले नहीं मिल पाएगी.

First Published : 29 May 2021, 05:52:42 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.