News Nation Logo

सांसों पर संकटः दिल्ली HC ने केंद्र से पूछा- कैसे पूरा होगा SC का आदेश ?

सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने केंद्र से पूछा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति क्या है. एएसजी चेतन शर्मा ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का सम्मान किया जाना चाहिए और उसके सम्मान में हम अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 03 May 2021, 04:47:20 PM
delhi high court

delhi high court (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • दिल्ली हाई कोर्ट में ऑक्सीजन की कमी पर सुनवाई हुई
  • हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा- SC के आदेश कैसे होगा पूरा
  • केंद्र ने कहा कि- SC के आदेश का करते हैं पूरा सम्मान

नई दिल्ली:

देश की राजधानी दिल्ली (Coronavirus in Delhi) इस वक्त कोरोना के कहर से कराह रही है. हर दिन हजारों की संख्या में केस आ रहे हैं और सैकड़ों लोगों (Corona Death Rate) की मौत हो रही है. कोरोना के कहर से इतर एक सबसे बड़ा संकट है ऑक्सीजन की कमी का (Oxygen Shortage), अस्पताल बार-बार ऑक्सीजन की गुहार लगा रहे हैं. सोमवार को भी दिल्ली में ही स्थिति रही. लाजपत नगर के IBS अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी हो गई. दिल्ली के अस्पतालों के अलावा अब नर्सिंग होम्स की तरफ से भी दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) का रुख किया गया है. हाईकोर्ट में ऑक्सीजन की कमी पर आज फिर से सुनवाई हुई.

ये भी पढ़ें- दिल्ली सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए मांगी सेना की मदद

सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने केंद्र से पूछा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति क्या है. एएसजी चेतन शर्मा ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का सम्मान किया जाना चाहिए और उसके सम्मान में हम अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे. एएसजी चेतन शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार पूरी कोशिश कर रही है. और अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर रही है.

पिछली सुनवाई में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा था कि दिल्ली सरकार अपनी जिम्मेदरी केंद्र सरकार पर थोप रही है, हम इसका विरोध करते हैं. ऐसे बहुत सारे राज्य हैं, जहां कारखाने और फैक्ट्रियां नहीं हैं. फिर भी वे राज्य टेंकरों की व्यवस्था कर रहे हैं. दिल्ली सरकार को कुछ करने के लिए सिर्फ नया सोचने की जरूरत है. मेहता ने कहा था कि दिल्ली सरकार के अधिकारियों द्वारा किए गए काम को बखूबी समझते हैं. दिल्ली सरकार के अधिकारी केंद्र सरकार के अधिकारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- योगी सरकार का बड़ा फैसला, मेडिकल छात्र भी करेंगे कोरोना मरीजों का इलाज

कुछ घंटों के लिए ही ऑक्सीजन बची

सोमवार को भी दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी है. कई अस्पतालों में तो महज कुछ घंटों की ऑक्सीजन बची है. जिसके चलते कई मरीजों की सांसों पर संकट आ गया है. लाजपत नगर के IBS अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी हो गई. इमरजेंसी के हालात में दिल्ली सरकार द्वारा यहां पर 10 ऑक्सीजन सिलेंडर भेजे जा रहे हैं. अस्पताल के मुताबिक कुल 37 मरीज ऑक्सीजन के सपोर्ट पर हैं.

दिल्ली सरकार ने सेना से मांगी मदद

दिल्ली उच्च न्यायालय में ऑक्सीजन आपूर्ति और कई समस्याओं को लेकर आज फिर सुनवाई हुई. आज सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने अदालत को बताया कि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कोरोना से निपटने के लिए सेना की मदद मांगी है. इसके लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखी है. इससे पिछली सुनवाई ने हाई कोर्ट ने सेना से मदद नहीं मांगने पर दिल्ली सरकार को कड़ी फटकार लगाई थी.

First Published : 03 May 2021, 04:47:20 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.