News Nation Logo
Banner

21 जून से दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान शुरू, दिल्ली ने लगाए ये आरोप

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि देश में 21 जून को शुरू हुए दुनिया के सबसे बड़े मुफ्त टीकाकरण अभियान में पहले ही दिन देश के 88.09 लाख लोगों को सफलता पूर्वक टीका लगाया गया.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 22 Jun 2021, 06:02:07 PM
Imaginative Pic

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल)

highlights

  • 21 जून को शुरू हुआ दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान
  • पहले दिन सफलतापूर्वक रहा वैक्सीनेशन, लगे 88.09 लोगों को टीका
  • दिल्ली सरकार का आरोप 18+ को नहीं हो पा रहा है टीकाकरणः राजेश भूषण

नयी दिल्ली:  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि देश में 21 जून को शुरू हुए दुनिया के सबसे बड़े मुफ्त टीकाकरण अभियान में पहले ही दिन देश के 88.09 लाख लोगों को सफलता पूर्वक टीका लगाया गया. इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि दिल्ली सरकार ने कोविड वैक्सीनेशन को लेकर ये आरोप लगाया है कि दिल्ली में 18+ के लोगों को वैक्सीन की आपूर्ति केंद्र सरकार नहीं कर पा रही है. उन्होंने आगे बताया कि यह स्पष्ट किया जाता है कि भारत सरकार ने 21 जून से पहले राज्यों को सीधे राज्य खरीद के तहत टीकों की पूरी आपूर्ति सुनिश्चित की थी. उन्होंने आगे ये भी बताया कि 15 जून से 21 जून के बीच देश में 553 जिले ऐसे थे जहां पॉजिटिव रेट 5 फीसदी से कम था. भारत ने 21 जून 2021 को एक ही दिन में प्रशासित 88.09 लाख खुराक का ऐतिहासिक मील का पत्थर हासिल किया.

वहीं मध्य प्रदेश ने कोरोना टीकाकरण के मामले में इतिहास रचा है और यहां एक दिन में लगभग 17 लाख लोगों को टीके लगाए गए हैं. भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने टीकाकरण की सफलता को एक बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उम्मीदों पर मध्य प्रदेश खरा उतरा है. प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने टीकाकरण महा अभियान के पहले दिन लगभग 17 लाख लोगों द्वारा टीका लगाए जाने पर कहा कि यह उपलब्धि केंद्र सरकार, राज्य सरकार, पार्टी कार्यकर्ताओं के परिश्रम और जनता के समर्थन से हासिल हुई है, जिसके लिए मैं सभी का आभार व्यक्त करता हूं.

यह भी पढ़ेंःधर्मांतरण पर बोली रमजान की पत्नी आयशा, कहा- लगता है चुनाव होने वाले है

शर्मा ने कहा कि इस सफलता ने एक बार फिर कोरोना नियंत्रण के लिए मध्यप्रदेश में अपनाए गए मॉडल की सार्थकता सिद्ध की है और प्रदेश प्रधानमंत्री की अपेक्षाओं पर खरा उतरा है. प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने वैक्सीनेशन महाअभियान में बढ़चढ़कर भाग लेने और इसे सफल बनाने पर प्रदेश की जनता को बधाई देते हुए कहा जनता के सहयोग, समर्थन तथा केंद्र और राज्य सरकारों पर जताए गए भरोसे से ही एक दिन में 16.91 लाख वैक्सीन लगाया जाना संभव हो सका है.

यह भी पढ़ेंःतमिलनाडु : कोविड का बहाना ना हो, SC ने 9 जिलों में निकाय चुनाव कराने का निर्देश दिया

साथ ही प्रदेश की जनता ने यह बता दिया है कि जो लोग अपने राजनीतिक स्वार्थवश वैक्सीन को लेकर भ्रम फैला रहे थे, वे अपनी कोशिशों में सफल नहीं हुए हैं. शर्मा ने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की सरकार ने जो मॉडल अपनाया था, उसकी सराहना स्वयं प्रधानमंत्री ने की थी. विपक्ष भले ही इस मॉडल की आलोचना करता रहे, लेकिन इस मॉडल के बलबूते पर ही प्रदेश की बड़ी आबादी को टीके लगवाना संभव हो सका है.

First Published : 22 Jun 2021, 05:13:57 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.