News Nation Logo

केजरीवाल सरकार ने तबलीगी जमात से जुड़े 1950 लोगों के मोबाइल नंबर दिए, अब ये किया जाएगा पता

दिल्ली सरकार (Delhi Government ) ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को तबलीगी जमात (Tablighi Jamat) से जुड़े 1950 लोगों के मोबाइल नंबर दिए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 07 Apr 2020, 06:27:57 PM
arvind kejriwal

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

Coronavirus (Covid 19), Corona Virus Covid19: दिल्ली में कोरोना वायरस (Corona Virus) के अभी 503 पॉजिटिव मामले हैं, जिनमें से 320 मरकज के हैं. दिल्ली सरकार (Delhi Government ) ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को तबलीगी जमात (Tablighi Jamat) से जुड़े 1950 लोगों के मोबाइल नंबर दिए हैं. इन सभी को निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यालय से निकाला गया था.

यह भी पढ़ेंःअशोक गहलोत का बड़ा फैसला- राजस्थान में भी चरणबद्ध ढंग से खोला जाएगा लॉकडाउन

केजरीवाल सरकार ने पुलिस से पूछा है कि इनके मोबाइल नंबर के हिसाब से ये पता लगाया जाए कि 25 मार्च से पहले ये किन-किन इलाकों में घूमे और किन लोगों से मिले. उसकी जानकारी दिल्ली सरकार को उपलब्ध करवाई जाए. दिल्ली सरकार की ओर से सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज ही घोषणा की थी कि जमात के लोग जिनसे भी मिले हैं, उन सभी को क्वारंटाइन (Quarantine) किया जाएगा और बड़े पैमाने पर टेस्टिंग भी होगी.

इससे पहले भी दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस को तबलीगी जमात से जुड़े 27302 लोगों के फोन नंबर दिए थे, जिनकी जानकारी मांगी गई थी, लेकिन अभी नहीं मिली है. बता दें कि आम आदमी पार्टी के नेता और केजरीवाल सरकार में मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया कि, 71 मामले ऐसे हैं जिनके बारे में अभी जांच की जा रही है कि इनको कोरोना (Covid-19) कैसे हुआ. यह बात तय है कि यह लोग विदेश नहीं गए थे या इनकी फैमिली से कोई विदेश नहीं गया था. सब से पूछ रहे हैं और जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आप ऐसे किसी व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आए जिसको कोरोना था?.

केंद्र सरकार की ओर से कोई मदद नहीं मिल रहा है: सतेंद्र जैन

गौरतलब है कि सतेंद्र जैन ने बताया कि रविवार शाम को हमें केंद्र सरकार से मैसेज आया है कि 27,000 पीपीई देंगे लेकिन अभी तक कुछ नहीं मिला है हो सकता है आज या कल मिल जाए (1 लाख मांगी थी). 50,000 टेस्टिंग किट और 200 वेंटिलेटर भी मांगे थे लेकिन उस पर अभी ना तो कोई जवाब है और ना ही कुछ दिया गया है. पुलिस ने हमारे अस्पतालों और कोरेंटिन सेंटर पर सुरक्षा बढ़ाई है लेकिन मरकज के लोगों के चलते अभी भी समस्या है. उनका व्यवहार अच्छा नहीं है, भाषा की भी समस्या है और उन लोगों को लगता है कि हमको इलाज कराने की जरूरत नहीं थी तो हमारा इलाज क्यों किया जा रहा है.

यह भी पढ़ेंःट्रंप के बयान पर बोले राहुल गांधी- इंडिया फर्स्ट-इंडियन्स फर्स्ट की नीति अपनाएं पीएम मोदी, नहीं तो...

सतेंद्र जैन ने बताया, अगर मरकज के मामलों को हटा दें तो हमारा 7 दिनों में आंकड़ा दोगुना हो रहा है. कल का आंकड़ा मिला ले तो हमारा 12 परसेंट पर डे के हिसाब से 6 दिन में 2 गुना हो रहा है,जबकि देश का करीब 4 या साढ़े 4 का रेट है. दिल्ली सरकार के पास करीब 200 वेंटिलेटर हैं जिसमें से दो या तीन ही इस्तेमाल हो रहे हैं. सतेंद्र जैन ने बताया कि कोरोना के लिए 2000 बेड निर्धारित किए हुए हैं जिसमें से करीब 550 ही इस्तेमाल हो रहे हैं.

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 07 Apr 2020, 06:21:13 PM