News Nation Logo

यमुना प्रदूषण मुक्त करेगी केजरीवाल सरकार, बनाए 6 एक्शन पॉइंट्स

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Delhi CM Arvind Kejriwal ) यमुना नदी ( Yamuna River )में लगातर बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर गंभीर हैं. यही वजह है कि केजरवाल सरकार अब यमुना की सफाई को लेकर एक्शन के मूड़ में दिख रही है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 18 Nov 2021, 12:30:04 PM
CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Delhi CM Arvind Kejriwal ) यमुना नदी ( Yamuna River )में लगातर बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर गंभीर हैं. यही वजह है कि केजरवाल सरकार अब यमुना की सफाई को लेकर एक्शन के मूड़ में दिख रही है. इस क्रम में सीएम केजरीवाल ने आज यानी गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि यमुना का पानी बहुत गंदा है,बहुत से नाले इसमें गिरते हैं. उन्होंने कहा कि सभी देशवासी चाहते है की  यमुना साफ हो. मुख्यमंत्री ने यमुना को साफ करने में 6 एक्शन पॉइंट भी बताए.

  1. दिल्ली के सीवर को यमुना में गिराया जाता है, अभी 600MGD सीवर साफ करने की क्षमता है. नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट जा रहे हैं और मौजूदा प्लांट की क्षमता बढ़ाई जा रही है. इसके अलावा ट्रीटमेंट प्लांट की तकनीक बदलने का काम भी किया जा रहा है. 
  2. दिल्ली में 4 गंदे नाले यमुना में करते हैं. नयी तकनीक के ज़रिए नालों को वहीं साफ किया जा रहा है. 
  3. इंडस्ट्री के कूड़े की सफाई कागजों में होती है. लेकिन अब नकेल कसेंगे और वेस्ट न भेजने वाली इंडस्ट्री को बन किया जाएगा.
  4. झुग्गी झोपड़ी के टॉयलेट्स को बारिश की नालियों में बहाने से रोका जाएगा और सीवर से अटैच किया जाएगा. 
  5. सीवर का कनेक्शन नही लेने से घर गंदगी नालों में बहा दी जाती है. घर के सीवर का कनेक्शन अब दिल्ली सरकार लगाएंगे और चार्ज बहुत कम लिए जाएंगे. यमुना पार में सीवर नेटवर्क लग चुका है लेकिन बहुत से लोगों ने कनेक्शन नही लगवाए हैं.
  6. सीवर की डिसिल्टिंग को मजबूत करने पर काम किया जाएगा.

उम्मीद है कि फरवरी 2025 तक यमुना नदी को साफ कर लेंगे. टाइम लाइन तैयार है और यमुना साफ़ होकर रहेगी.

First Published : 18 Nov 2021, 12:30:04 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.