logo-image
लोकसभा चुनाव

Air Pollution: दिल्ली में अब सांस लेना हुआ मुश्किल, 400 के पार पहुंचा AQI

Air Pollution: दिल्ली-एनसीआर में धुंध की शक्ल ले चुके स्मॉग ने विजिबिलिटी लेवल काफी कम कर दिया है. जिसकी वजह से दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम, फरिदाबाद और गाजियाबाद जैसे शहर स्मॉग की सफेद चादर में लिपटे नजर आ रहे हैं. 

Updated on: 06 Nov 2023, 07:52 AM

New Delhi:

Air Pollution:  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. आलम यह है कि लोगों को अब खुली हवा में सांस लेना भी दूभर हो गया है. जिसके चलते या तो लोग घर में रहना पसंद कर रहे हैं या फिर मास्क या मुंह पर कपड़ा रखकर बाहर निकल रहे हैं. वहीं, हवा में मिले धुएं व विषैले तत्वों की वजह से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लोग सांस लेने में परेशानी के साथ खांसी, घबराहट और आंखों में जलन जैसी समस्याओं को अनुभव कर रहे हैं. ऐसे में दिल्ली की दमघोंटू हवा ने सांस और हार्ट पेशेंट के लिए तो खतरे की घंटी बजा दी है. डॉक्टरों का स्पष्ट कहना है कि दिल्ली में हवा में फैला जहर अस्थमा और दिल के मरीजों की जान को जोखिम में डाल सकता है. लिहाजा उनको खास अहतियात बरतने की जरूरत है. 

दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक(AQI) 'गंभीर' श्रेणी में

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक(AQI) 'गंभीर' श्रेणी में बना हुआ है.  आर.के. पुरम में AQI) 466, ITO में 402, पटपड़गंज में 471 और न्यू मोती बाग में 488 दर्ज़ किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार आज यानी सोमवार को कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच गया. ताजा रिपोर्ट के अनुसार आरके पुरम में एक्यूआई 466, आईटीओ 402, लोधी रोड 388, सीरीफोर्ट 336, पटपड़गंज 471, नया मोती बाग, 488 और डॉ. करणी सिंह शूटिंग रेज पर एक्यूआई लेवल 447 दर्ज किया गया.

दिल्ली से सटे नोएडा में भी हालात गंभीर

वहीं, दिल्ली से सटे नोएडा में भी हालात गंभीर हो चले हैं. यहां आज सेक्टर-62 में वायु गुणवत्ता सूचकांक 452, सेक्टर-एक में 408, इंदिरापुरम में 340, सेक्टर-125 में 352 और वसंधुरा में 412 रिकॉर्ड किया गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग यानी आईएमडी की मानें तो फिलहार बारिश के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं. मतलब साफ है कि दिल्ली-एनसीआर वालों को अभी प्रदूषण से कोई राहत नहीं मिलने वाली है. ऐसे में सरकार और लोगों में भारी चिंता का भाव है. दिल्ली-एनसीआर में धुंध की शक्ल ले चुके स्मॉग ने विजिबिलिटी लेवल काफी कम कर दिया है. जिसकी वजह से दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम, फरिदाबाद और गाजियाबाद जैसे शहर स्मॉग की सफेद चादर में लिपटे नजर आ रहे हैं.