News Nation Logo

छोटा राजन फिर दाऊद इब्राहिम के निशाने पर, धमकी के बाद तिहाड़ में सुरक्षा बढ़ी

डी-कंपनी (D-Company) के सदस्य और अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील (Chhota Shaqeel) ने अपने प्रतिद्वंद्वी छोटा राजन (Chhota Rajan) की हत्या की नई साजिश रची है.

IANS | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 31 Dec 2019, 06:46:30 AM
छोटा राजन फिर दाऊद इब्राहिम के निशाने पर, तिहाड़ में सुरक्षा बढ़ी

नई दिल्‍ली:

डी-कंपनी (D-Company) के सदस्य और अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील (Chhota Shaqil) ने अपने प्रतिद्वंद्वी छोटा राजन (Chhota Rajan) की हत्या की नई साजिश रची है. इसे लेकर राष्ट्रीय राजधानी स्थित तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में छोटा राजन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. छोटा राजन फिलहाल इसी जेल में कैद है. शकील अपने बॉस दाऊद इब्राहिम (Daud Ibrahim) के साथ मिलकर कराची (Karachi) से अपना कारोबार संचालित करता है. उसने कथित तौर पर डी-कंपनी के एक भारतीय मॉड्यूल को तिहाड़ में राजन की कोठरी में ही उसके खात्मे की जिम्मेदारी सौंपी है.

यह भी पढ़ें : जनरल बिपिन रावत देश के पहले CDS बने, 1 जनवरी को संभालेंगे पदभार, 31 को शपथ लेंगे नए आर्मी चीफ नरवाने

डी-कंपनी की इस नई साजिश के बारे में पूछे जाने पर तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने कहा कि जेल में जहां राजन को रखा गया है, वहां सुरक्षा चुस्त कर दी गई है. वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गोयल ने आईएएनएस को बताया, "मैं सिर्फ सुरक्षा के बारे में बात कर सकता हूं. उसे (राजन) अत्यंत उच्च सुरक्षा वाले जेल में रखा गया है और फूलप्रूफ सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं, लेकिन मैं उसे दी गई धमकी पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता."

सूत्रों ने कहा कि राजेंद्र सदाशिव निखलजे उर्फ छोटा राजन को अत्यंत सुरक्षा वाली जेल संख्या-दो में रखा गया है, जिसकी 24 घंटे रखवाली खासतौर से तमिलनाडु स्पेशल पुलिस के जवान करते हैं. एक सूत्र ने कहा, "धमकी के बाद राजन के तीन कुक बदल दिए गए हैं. इसके अलावा राजन को दिए जा रहे पके भोजन और राशन (अनाज, खाद्य तेल, और कच्ची सब्जियां) की भी जांच की जा रही है. जेल में कोई भी व्यक्ति उससे कम से कम 10 मीटर की दूरी पर ही रह सकता है."

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से कांग्रेस में 'बगावत', खड़गे से मिलकर इन नेताओं ने जताई नाराजगी

सूत्र के अनुसार, माफिया डॉन और चार बार का सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन भी जेल संख्या 2 में कैद है. जेल वार्ड के अंदर राजन और शहाबुद्दीन को मिलने की अनुमति नहीं है, जहां 24 घंटे उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरे से निगरानी की जाती है.

खुफिया एजेंसियों ने हाल ही में एक टेलीफोन काल पकड़ी थी, जिसमें छोटा शकील जेल के अंदर छोटा राजन के खात्मे की साजिश पर चर्चा कर रहा था, जिसमें कथित तौर पर राजन को उसकी कोठरी में ही जहर देने की चर्चा शामिल थी.

यह भी पढ़ें : CAA: यहां से आते हैं भारत में सबसे ज्यादा रिफ्यूजी, बांग्लादेश, PAK या अफगानिस्तान नहीं वो देश

शकील और दाऊद का मानना है कि राजन भारतीय एजेंसियों का मुखबिर रहा है, जो पुलिस को डी-कंपनी की जारी गतिविधियों के बारे में जानकारी मुहैया कराता है, खासतौर से ड्रग और नकली मुद्रा की तस्करी के बारे में, जिसके लिए डी-कंपनी ने नेपाल और बांग्लादेश में अपना अड्डा बना रखा है. राजन डी-कंपनी का सदस्य रह चुका है, जो मुंबई में 1993 में हुए श्रंखलाबद्ध विस्फोटों के बाद सांप्रदायिक आधार पर दाऊद से अलग हो गया था.

2015 के अंत में आस्ट्रेलियाई पुलिस की गुप्त सूचना पर राजन को इंडोनेशिया के बाली द्वीप में इंटरपोल ने पकड़ लिया था और भारत को सौंप दिया था. उसके बाद से राजन तिहाड़ के अति सुरक्षा वाले वार्ड में कैद है. तिहाड़ के एक डिप्टी सुपरिंटेंडेंट स्तर के अधिकारी ने कहा, "यह वही वार्ड है, जहां कुछ दशक पहले कुख्यात अपराधी चार्ल्स शोभराज कैद किया गया था. इस वार्ड में दुर्दात अपराधी ही रखे जाते हैं."

यह भी पढ़ें : तारिक फतह बोले- CAA के विरोध के पीछे पाक ISI की साजिश, इसका एक ही मकसद हिंदुस्तान का खात्मा

अधिकारी के अनुसार, इन दिनों सिर्फ राजन की पत्नी सुजाता निखलजे और उसके वकीलों को ही माफिया डॉन से मिलने की अनुमति है. गुप्तचर ब्यूरो राजन की गतिविधि पर कड़ी नजर रखे हुए है. तिहाड़ प्रशासन और खुफिया एजेंसियां समय-समय पर राजन की सुरक्षा की समीक्षा भी कर रही हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 31 Dec 2019, 06:46:30 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.