News Nation Logo

कोविड-19 से भारत में प्रति एक लाख आबादी पर एक व्यक्ति की मौत, जबकि वैश्विक औसत 6.04 : केन्द्र

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 (Covid 19) से भारत में प्रति एक लाख आबादी में एक व्यक्ति की मौत हुई है, जबकि इसका वैश्विक औसत 6.04 है.

Bhasha | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 24 Jun 2020, 12:09:55 AM
Corona

प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 से भारत में प्रति एक लाख आबादी में एक व्यक्ति की मौत हुई है, जबकि इसका वैश्विक औसत 6.04 है. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या आज 14 हजार से अधिक हो गई है. देश में लगातार चौथे दिन दौरान संक्रमण के 14 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं. महाराष्ट्र के बाद संक्रमण से सबसे बुरी तरह प्रभावित दिल्ली में एक दिन में सबसे अधिक 3,947 मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 66,602 हो गई है.

मंत्रालय ने देश में इस महामारी से होने वाली मौत की दर कम रहने का श्रेय मामलों का समय पर पता लगाये जाने, संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये लोगों का व्यापक स्तर पर पता लगाने और कारगर चिकित्सा प्रबंध को दिया है. मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, कुल 2,48,189 लोग ठीक हो चुके हैं. अब भी 1,78,014 लोग संक्रमित हैं जिनका अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

यह भी पढ़ें- भारत, रूस और चीन को द्विपक्षीय संबंधों के ‘संवेदनशील मुद्दों’ से सही तरीके से निपटना चाहिए: वांग यी

बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 10,994 रोगी ठीक हुए हैं. मंत्रालय के मुताबिक, मंगलवार की सुबह आठ बजे तक (पिछले 24 घंटे में) 312 संक्रमित व्यक्तियों की मौत होने के बाद मृतकों की कुल संख्या 14,011 हो गई है. वहीं, संक्रमण के 14,933 नये मामले आने के साथ कुल आंकड़ा बढ़ कर 4,40,215 पहुंच गया है. दुनिया भर में कोविड-19 से कुल 472,541 लोगों की मौत हो चुकी है.

मृतकों की संख्या के मामले में भारत आठवें पायदान पर है. अमेरिका में सर्वाधिक 1,20,402 लोगों की मौत हुई है. एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने 'पीटीआई-भाषा' से कहा, ''हम मृत्युदर को कम रखने पर काम कर रहे हैं. संक्रमितों की संख्या बढ़ना इतना महत्वपूर्ण नहीं है जितना अहम मृत्युदर का कम रहना है.'' उन्होंने कहा कि भारत बड़ी आबादी वाला देश है. इस लिहाज से देखा जाए तो यहां कम आबादी वाले देशों की तुलना में संक्रमितों की संख्या अधिक रहेगी.

यह भी पढ़ें- राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से और नौ लोगों की मौत, 395 नये मामले

उन्होंने कहा, ''शुरुआत से ही हमारी कोशिश जल्द से जल्द संक्रमितों की पहचान करके, कोविड-19 संबंधी ढांचा बनाकर, जिला स्तर पर ऑक्सीजन सपोर्ट की उपलब्धता सुनिश्चित कर और नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल को प्रभावी ढंग से लागू करके लोगों की जान बचाने की रही है.'' विश्व स्वास्थ्य संगठन की 22 जून की स्थिति रिपोर्ट 154 का जिक्र करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 से ब्रिटेन में प्रति एक लाख आबादी पर 63.13, स्पेन में 60.60, इटली में 57.19, अमेरिका में 36.30, जर्मनी में 27.32, ब्राजील में 23.68 और रूस में 5.62 मौत दर्ज की गईं.

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत में, मामलों का शुरुआत में ही पता लगाये जाने, समय पर जांच करने एवं निगरानी रखने, संक्रमित मरीजों के संपर्क में आये लोगों का पता लगाने तथा कारगर चिकित्सा प्रबंध ने मृत्यु दर को नियंत्रित करने में मदद की है.’’ भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, 22 जून तक 71,37,716 नमूनों की जांच की जा चुकी है. सोमवार को 1,87,223 नमूनों की जांच की गई.

यह भी पढ़ें- सीएम योगी बनाएंगे एक करोड़ रोजगार देने का रिकॉर्ड, पीएम बनेंगे इस महाअभियान के अगुवा

इस बीच, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) और दो अन्य बलों एनएसजी और एनडीआरएफ में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 85 नए मामले सामने आने के साथ ही इन बलों में संक्रमण के मामले 2,900 के आंकड़े को पार कर गए. पीटीआई-भाषा के पास उपलब्ध हालिया आंकड़ों के मुताबिक, इन बलों में कोविड-19 के कारण 23 कर्मियों की मौत हुई है. सीएपीएफ के तहत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) आते हैं.

देश में अब तक संक्रमण से मौत के कुल 14,011 लोगों की मौत हुई है. इनमे से सबसे अधिक 6,283 मौत महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद दिल्ली में 2,233, गुजरात में 1,684, तमिलनाडु में 794, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में 569-569, मध्य प्रदेश में 521 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह को जारी अपडेट के अनुसार, अब तक संक्रमण के सबसे अधिक, कुल 1,35,796 मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने मंगलवार को कहा कि अगर बेंगलुरु में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ते रहे तो शहर में लॉकडाउन लागू किया जा सकता है.

मंत्री ने यहां पत्रकारों से कहा, ''अगर आने वाले दिनों में भी हालात ऐसे ही रहे तो हमें लॉकडाउन के बारे में सोचना पड़ेगा...अगर मामले तेजी से बढ़े तो विशेषज्ञों से सलाह-मशविरा कर हमें लॉकडाउन लागू करने पर विचार करना होगा.'' कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए राजधानी में कुछ इलाके सील करने की जगह पूरे शहर को ही 20 दिन के लिए बंद कर दिया जाना चाहिए.

कुमारस्वामी ने ट्वीट किया, ‘‘ लोगों की जिंदगियों से खेलना बंद करें. कुछ इलाके सील करने से कोई फायदा नहीं होगा. अगर आपको बेंगलुरू के लोगों की चिंता है तो पूरे शहर को 20 दिन के लिए बंद कर दीजिए. नहीं तो बेंगलुरू दूसरा ब्राजील बन जाएगा. अर्थव्यवस्था से अधिक जरूरी लोगों की जिंदगी है.’’ कर्नाटक में मंगलवार को कोविड-19 के 322 नये मामले सामने आए जबकि आठ मरीजों की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें- गलवान झड़प में पीएलए के 40 सैनिकों के मारे जाने को चीन ने ‘फर्जी सूचना’ करार दिया

इसके साथ ही राज्य में कोरोना वायरस के कुल संक्रमितों की संख्या 9,721 और मृतकों की संख्या 150 हो गई है. इस अवधि के दौरान 274 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है. केरल में मंगलवार को कोविड-19 के 141 मामले सामने आने के साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 3,503 तक पहुंच गई. राज्य में लगातार पांचवें दिन संक्रमण के 100 से अधिक मामले सामने आये हैं. इस बीच, मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों को सावधान किया कि स्थिति ‘‘गंभीर’’ हो रही है.

राज्य में संक्रमण के कारण अब तक जान गंवाने वालों की संख्या 22 हो गयी. विजयन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि 60 लोग आज संक्रमण से ठीक हुए हैं, जबकि वर्तमान में 1,620 मरीजों का इलाज चल रहा है और 1.50 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘स्थिति गंभीर हो रही है. ऐसे लोग भी संक्रमित पाए गए हैं, जिन्हें कोई लक्षण नहीं था.’’ तमिलनाडु में कोरोना वायरस से 2516 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई तथा 39 मरीजों की संक्रमण के कारण मौत हो गई है.

इसके बाद प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 64,603 हो गए हैं जबकि मृतकों का आंकड़ा 833 पर पहुंच गया है. स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में बताया गया है कि इन मरीजों में सबसे ज्यादा 1380 चेन्नई के हैं. इसके बाद चेंगलपेट जिले के 146, तिरूवल्लुर के 156 और कांचीपुरम के 59 मरीज हैं. यह लगातार सातवां दिन है जब प्रदेश में दो हजार से ज्यादा और तीसरे दिन 2500 से अधिक मामले मामले आए हैं.

प्रदेश में फिलहाल 28,428 मरीज संक्रमण का इलाज करा रहे हैं. राजधानी चेन्नई में कुल मामले 44,205 हैं. मामलों में तेजी के बाद पिछले शुक्रवार से 30 जून तक चेन्नई में फिर सख्त लॉकडाउन लगाया गया है. इस बीच, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उप राज्यपाल अनिल बैजल से अनुरोध किया है कि कोविड-19 के प्रत्येक मरीज को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए सरकारी केंद्र में जाने की अनिवार्य व्यवस्था को समाप्त किया जाए.

सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने बैजल को इस बाबत पत्र लिखकर कहा है कि संक्रमित व्यक्ति को इन केंद्रों पर लंबी कतार में खड़ा होना पड़ेगा जिससे सरकारी तंत्र पर अतिरिक्त बोझ पड़ेगा. ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में सिसोदिया ने कहा, “परीक्षण कराने के लिए किसी को पृथक-वास केंद्र में क्यों जाना चाहिए? क्या उसने कोई गलती की है? जिस समय सरकार को उसकी मदद करनी चाहिए , उस समय हम उसे लंबी कतार में खड़े होने की सजा दे रहे हैं.”

उप मुख्यमंत्री ने मांग की है कि पहले वाली व्यवस्था बहाल की जाए जिसमें चिकित्सकीय जांच के लिए जिला प्रशासन के दल संक्रमित व्यक्ति के घर तक जाते थे. उन्होंने कहा कि दिल्ली में रोजाना कोविड-19 के करीब तीन हजार मामले सामने आ रहे हैं और ऐसे में कोविड-19 के हर मरीज के लिए चिकित्सकीय जांच के लिए सरकारी केंद्रों पर जाना व्यावहारिक नहीं है. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के रिकॉर्ड 3,947 नये मामले सामने आये, जिससे संक्रमितों की संख्या 66,000 के पार पहुंची, जबकि संक्रमण के कारण 68 और लोगों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,301 हो गई.

ओडिशा में कोविड-19 से दो और लोगों की मौत होने के साथ ही राज्य में महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर अब 17 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि इस अवधि में कोरोना वायरस से 167 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जिन्हें मिलाकर राज्य में कोविड-19 के 5,470 मरीज सामने आ चुके हैं. अधिकारियों ने बताया कि चंडीगढ़ में कोविड-19 के चार नये मामले सामने आने के बाद शहर में संक्रमितों की संख्या 415 तक पहुंच गई.

शहर में अब 87 मरीजों का इलाज चल रहा है. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में मंगलवार को आठ और लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया, जिससे जिले में इलाजरत मरीजों की संख्या 81 तक पहुंच गई. गुजरात के अहमदाबाद में कोविड-19 के 235 नये मामले सामने आने से कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 19,386 हो गई. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि संक्रमण के कारण 15 और लोगों की मौत के साथ, मरने वालों की संख्या 1,363 हो गई.

First Published : 24 Jun 2020, 12:09:55 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.