News Nation Logo
Banner

दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर 1 फीसदी से नीचे पहुंची- सत्येंद्र जैन

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिल्ली सरकार लगातार कदम उठा रही है. दिल्ली में नवंबर में संक्रमण दर 16 फीसदी थी, जबकि पिछले 2 महीने से संक्रमण दर 1 फीसदी से नीचे दर्ज हो रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 07 Mar 2021, 10:19:49 AM
Satyendar Jain

सत्येंद्र जैन (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिल्ली सरकार लगातार कदम उठा रही है. दिल्ली में नवंबर में संक्रमण दर 16 फीसदी थी, जबकि पिछले 2 महीने से संक्रमण दर 1 फीसदी से नीचे दर्ज हो रही है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया है कि आज 90 हजार से ज्यादा कोरोना टेस्ट दिल्ली में हुए हैं और संक्रमण दर 0.3 फीसदी दर्ज हुई है. उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने की तैयारी पूरी है. अस्पतालों में जितने बेड्स हैं, उनमें 10 फीसदी बेड्स पर भी मरीज भर्ती नहीं है, 90 फीसदी बेड्स खाली हैं. इसके अलावा अस्पतालों और डिस्पेंसरी में टेस्ट काफी बड़ी संख्या में किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में Pandemic फेज खत्म हो रहा है और दिल्ली Endemic फेज में जा रही है.

यह भी पढ़ें : केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में की हरित क्रांति, दिल्ली को बनाएंगे हरा-भरा

दिल्ली में कोरोना की स्थिति क्या गंभीर है?

दिल्ली में कोरोना की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, 'कोरोना के आंकड़े में बहुत ज्यादा परिवर्तन नहीं है. नवम्बर में एक समय पर 15-16 फीसदी पॉजिटिविटी थी और पिछले 2 महीने से लगातार पॉजिटिविटी 1 फीसदी से भी कम है. आज के हेल्थ बुलेटिन में हमने 90 हजार से ज्यादा टेस्ट किए हैं और पॉजिटिविटी 0.3 फीसदी आ रही है. इतने उतार चढ़ाव से इतना फर्क नहीं पड़ता है. डब्ल्यूएचओ का कहना था पॉजिटिविटी 5 फीसदी से नीचे रहना चाहिए तो दिल्ली में पिछले 2 महीने से लगातार 1 फीसदी से नीचे है.

कोरोना को लेकर तैयारी

सत्येंद्र जैन ने कहा, 'तैयारी हमारी बिल्कुल है. हॉस्पिटल में अभी 10 फीसदी से कम बेड भरे हुए हैं, जबकि 90 फीसदी बेड खाली हैं. हॉस्पिटल में डिस्पेंसरी में टेस्ट हो रहे हैं. टेस्ट जितने दिल्ली में हो रहे हैं, राष्ट्रीय स्तर से करीब 6-7 गुना ज़्यादा टेस्ट कर रहे हैं. कांटेक्ट ट्रेसिंग भी कर रहे हैं. वैक्सीनेशन भी तेजी से हो रहा है. कल दिल्ली में 33 हजार लोगों का अब तक का सबसे ज्यादा हुआ है. एक समय पर साढ़े 8 हजार केस एक दिन में थे, आज 200-300 हैं, इतना कम ज्यादा होता है. 6 हजार बेड हमारे पास अभी भी हैं. अस्पतालों में करीब 600 मरीज भर्ती हैं.'

'मास्क लगाएंगे तो कोरोना से बचा जा सकता है'

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'मुझे ऐसा लगता है कि Pandemic फेज खत्म हो रहा है, लेकिन दिल्ली endemic फेज में जा रहे हैं. Pandemic फेज होता है, बहुत तेज़ी से बढ़ना, जिसे महामारी कहते हैं. लेकिन endemic फेज में जा रहे हैं. जैसे स्वाइन फ्लू आया था. जिस समय शुरू हुआ था, तेज़ी से आया था, लेकिन उसके बाद हर साल कुछ केस आते हैं. अभी ऐसा लगता नहीं है कि कोरोना एकदम से खत्म होने वाला है. कुछ केस आते रहेंगे और मुझे लगता है कि इसके साथ जीना हमें सीखना होगा. मास्क लगाना सीखना है. मास्क लगाएंगे तो इससे बचा जा सकता है.'

यह भी पढ़ें : दिल्ली में फिर बढ़ने लगे कोरोना के एक्टिव मामले, एक दिन में आए 261 नए केस

दिल्ली में कोई निर्देश या तैयारियां

उन्होंने कहा कि सख्ती में सिर्फ एक ही चीज का असर पड़ रहा है. मास्क न लगाने पर दिल्ली में हमने 2000 का चालान कर दिया है. काफी सख्ती से उसका पालन किया जा रहा है. दिल्ली में 2 महीने पहले ज्यादा रिलेक्स थे. सत्येंद्र जैन ने कहा कि स्वास्थ्य सचिव की मीटिंग पर मुझे कमेंट करने की आवश्यकता नहीं है. हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है, सतर्कता छोड़कर हम चिंतित रहें तो उससे काम नहीं चलेगा.

अभी पैनिक क्रिएट करने की जरूरत बिल्कुल नहीं

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अभी पैनिक क्रिएट करने की जरूरत बिल्कुल नहीं है दिल्ली में. अकोला में महाराष्ट्र में क्या हो रहा है, केरल में क्या हो रहा है, उसकी वजह से दिल्ली में पैनिक क्रिएट करने की जरूरत नहीं है. मुझे लगता है कि दिल्ली में स्थिति कंट्रोल में है. उन्होंने कहा कि 400 से ज़्यादा वैक्सीनेशन सेंटर हमने बना दिए हैं. उसे और भी ज़्यादा बढा रहे हैं. इस समय दिल्ली में वैक्सीनेशन बहुत तेज़ी से चल रहा है. पूरे देश में शायद पिछले कुछ दिनों से हम नम्बर 1 पर चल रहे हैं.

First Published : 07 Mar 2021, 10:19:49 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.