logo-image
लोकसभा चुनाव

अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ जेल में मिलेंगी ये सुविधाएं, जानें कैसा मिलेगा नाश्ता और खाना?

Delhi Excise Policy: दिल्ली आबाकारी नीति मामले में दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

Updated on: 01 Apr 2024, 05:16 PM

New Delhi:

दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आम आदमी पार्टी के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 25 अप्रैल तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. अरविंद केजरीवाल अब तिहाड़ जेल में रहेंगे. उनको जेल नंबर 2 अलॉट की गई है. यहां सीएम केजरीवाल अकेले रहेंगे. दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी की टीम ने आज अरविंद केजरीवाल को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. यहां ईडी ने कोर्ट से उनकी रिमांड बढ़ाने का कोई अनुरोध नहीं किया. इसके बाद कोर्ट ने सीएम केजरीवाल को 15 अप्रैल तक कि न्यायिक हिरासत में भेज दिया. असल में ईडी ने इससे पहले केजरीवाल को 28 मार्च को कोर्ट में पेश किया था, जहां अदालन ने उनको एक अप्रैल तक के लिए ईडी की रिमांड पर भेज दिया था. आज जबकि उनकी रिमांड खत्म हो रही थी तो कोर्ट ने उनको ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया.

सुबह 6 बजे से होगी दिन की शुरुआत

एक रिपोर्ट के अनुसार तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल के दिन की शुरुआत सुबह 6 बजे से होगी. 6.30 बजे उनको नाश्ता दिया जाएगा, जिसमें चाय और ब्रेड शामिल होंगे. सुबह 10.30 से 11 बजे के बीच अरविंद केजरीवाल को भोजन दिया जाएगा. भोजन में उनको दाल, सब्जी, चावल और पांच रोटियां दी जाएंगी. दोपहर 3.30 बजे केजरीवाल को अन्य कैदियों के साथ एक कप चाय और दो बिस्कुट दिए जाएंगे. शाम 4 बजे मुख्यमंत्री केजरीवाल को वकीलों से मिलने की अनुमति रहेगी. शाम को 5.30 बजे के बाद उनको रात का खाना दिया जाएगा, जिसमें सब्जी, दाल, चावल और रोटी रहेगी.

टीवी देखने की मिलेगी अनुमति

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल टीवी देख सकेंगे. हालांकि लॉक-अप और भोजन के दौरान इसकी अनुमति नहीं होगी.  क्योंकि अरविंद केजरीवाल डायबिटिक हैं. इसलिए जेल में उनकी नियमित जांच भी होगी. आपाकालीन सेवाओं के लिए डॉक्टरों की टीम चौबीसों घंटे मौजूद रहेगी. केजरीवाल के हेल्थ इश्यू को देखते हुए उनके वकील ने कोर्ट से उनके लिए स्पेशल डाइट दिए जाने का अनुरोध किया है. क्योंकि डायबिटिक लोगों को खाने और नाश्ते में अतिरिक्त सावधानी बरतनी होती है. इसलिए उनके लिए स्पेशल डाइट दिए जाने की मांग की गई है.