News Nation Logo
Banner

दिल्ली में कोरोना ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, बीते 24 घंटे में सामने आए 10732 केस

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं. दिल्ली के हालात दिन-प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटों में दिल्ली में 10,732 नए मामले सामने आए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 11 Apr 2021, 11:32:51 AM
दिल्ली में कोरोना के 10732 नए मामले, केजरीवाल ने कही ये बड़ी बात

दिल्ली में कोरोना के 10732 नए मामले, केजरीवाल ने कही ये बड़ी बात (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • बीते 24 घंटों में सामने आए 10 हजार से ज्यादा मामले
  • अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के हालात पर जताई चिंता
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों की व्यवस्था बिगड़ी तो लगाना पड़ेगा लॉकडाउन

नई दिल्ली:  

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं. दिल्ली के हालात दिन-प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटों में दिल्ली में 10,732 नए मामले सामने आए हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजधानी की मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए मीडिया के माध्यम से दिल्ली के लोगों से अपील की. मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं. उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि लोग जरूरी काम होने पर ही घरों से बाहर निकलें क्योंकि राजधानी में कोरोनावायरस का खतरा काफी बढ़ गया है.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ''दिल्ली सरकार राजधानी में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए 3 स्तर पर काम कर रही है. कोरोना के प्रोटोकॉल फॉलो करने होंगे. लोगों को मास्क पहनना जरूरी है. जब कोई जरूरी काम हो तभी घर से बाहर निकलें. कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जो नई पाबंदियां लगाई गई हैं, उन्हें फॉलो जरूर करें. हम कोशिश कर रहे हैं कि दिल्ली के अस्पतालों में बेस्ट से बेस्ट इलाज मिले. नवंबर के महीने में साढ़े 8 हजार की पीक आई थी, आज मामले 10 हजार के पार हो गए हैंं.''

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ''दिल्ली का कोरोना ऐप आज भी काम कर रहा है, किस अस्पताल में कितने बेड मौजूद हैं उस एप पर देख सकते हैं. जिस अस्पताल में बेड उपलब्ध हैं, मरीज को लेकर वहां जाइए. लोग प्राइवेट अस्पताल की तरफ दौड़ रहे हैं, वहां बेड्स कम होते हैं. प्राइवेट अस्पताल की तरफ मत दौड़िए, सरकारी अस्पतालों में अच्छे इंतजाम हैं, वहां जाएं. इस बात का खास ध्यान रखें कि अस्पताल जाने की जरूरत होने पर ही अस्पताल जाएं, वरना बेड्स कम पड़ जाएंगे. अगर सीरियस मरीज को बेड नहीं मिला तो उसकी मौत भी हो सकती है.''

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बढ़ते मामलों को देखते हुए अस्पतालों में पड़ रही बेड की कमी को लेकर कहा कि घर में ही आइसोलेट होकर इलाज कराइए. जब तक अस्पताल जाने की जरूरत न हो, अस्पताल न जाएं. अगर अस्पताल कम पड़ गए तो हालात और भी बिगड़ जाएंगे. लॉकडाउन कोरोना से जूझने का समाधान नहीं है. जब अस्पतालों की व्यवस्था खराब हो जाएगी, तब जाकर हम दिल्ली में लॉकडाउन लगाएंगे. अस्पतालों के अंदर बेड्स की कमी हो गई तो दिल्ली में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है.''

इसके अलावा केजरीवाल ने वैक्सीनेशन को लेकर लगाई पाबंदियों को भी हटाने की मांग को दोहराया है. उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए उम्र की पाबंदी को खत्म कर देना चाहिए और 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराई जानी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में 65 फीसदी मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं.

First Published : 11 Apr 2021, 11:17:57 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.