logo-image
लोकसभा चुनाव

स्वाति मालीवाल के आरोप पर AAP का पलटवार, आतिशी बोलीं- 'सारे आरोप झूठे, BJP ने साजिश के तहत CM हाउस भेजा'

जो वीडियो सामने आया है, वो शिकायत में लगाए गए आरोपों के विपरीत है. वीडियो में दिख रहा है कि वे आराम से बैठी हुई हैं, पुलिस वालों को और बिभव कुमार को धमका रही हैं, कपड़े नहीं फटे हैं, सिर पर चोट नहीं दिख रही है. इसका ज़िक्र तक नहीं कर रही हैं कि किसी ने उन्हें छुआ भी है.

Updated on: 18 May 2024, 05:55 AM

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में हुई बदसलूकी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. आम आदमी पार्टी ने स्वाति मालीवाल के आरोप पर पलटवार किया है. आम आदमी पार्टी की मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल के लगाए सारे आरोप झूठे और निराधार है. साजिश के तहत स्वाति को बीजेपी ने भेजा था. स्वाति सीएम हाउस में जबरदस्ती घुसी थी. बीजेपी ने पूरे मामले की साजिश रची है. बिभव पर झूठे आरोप लगाए गए हैं. बिभव कुमार ने स्वाति मालीवाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. आतिशी ने आरोप लगाया कि स्वाति की चोट नहीं दिख रही है.

स्वाति मालीवाल इस षड्यंत्र का चेहरा थी. कोशिश मुख्यमंत्री को फंसाने की थी, लेकिन वो उस वक्त वहां नहीं थे. आम आदमी पार्टी की मंत्री आतिशी ने कहा कि जब से अरविंद केजरीवाल जी को जमानत मिली है तब से भाजपा बौखलाई हुई है. इसी बोखलाहट के तहत भाजपा ने ऐसी साजिश रच रही है. उसी साजिश के तहत स्वाति मालीवाल को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर भेजा गया.

आज जो वीडियो सामने आया है, वो शिकायत में लगाए गए आरोपों के विपरीत है. वीडियो में दिख रहा है कि वे आराम से बैठी हुई हैं, पुलिस वालों को और बिभव कुमार को धमका रही हैं, कपड़े नहीं फटे हैं, सिर पर चोट नहीं दिख रही है. इसका ज़िक्र तक नहीं कर रही हैं कि किसी ने उन्हें छुआ भी है. वीडियो से स्पष्ट है कि आरोप निराधार और झूठे हैं

बिभव ने स्वाति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई- आतिशी
बिभव कुमार ने दिल्ली पुलिस ने शिकायत दर्ज की है और 13 मई के सीक्वेंस इवेंट्स को डीटेल में बताया है. 13 मई को स्वाति मालीवाल बिना एपवॉटमेंट सीएम हाउस पहुंची थीं, सुरक्षा कर्मी रोक रह थे, लेकिन वे यह बोलकर कि राज्यसभा की सांसद हैं अंदर चली गईं. वेटिंग रूम में कुछ देर बैठने के बाद ज़बरदस्ती सीएम आवास के ड्राइंग रूम में बैठ गईं. और बोलने लगीं कि सीएम को बुलाओ अभी मिलना है. क्या उन्हें पता नहीं है कि सीएम से मिलने का क्या तरीक़ा होता है.

सीएम को फंसाने की साजिश
सीएम हाउस के स्टॉफ ने बिभव कुमार को कॉल किया, वे आए और बताया कि सीएम उपलब्ध नहीं हैं वे अभी नहीं मिल पाएंगे. उसके बाद स्वाति ने ऊंची आवाज़ में बोलनी शुरू कर दी, बिभव को धक्का देने की कोशिश की. फिर बिभव में सेक्यूरिटी को बुलाया. 

घटनाक्रम से साबित होता है कि यह भाजपा की ओर से सोचा गया ष्ड्यंत्र था. सीएम को फंसाने का इरादा था. यह इससे भी साबित हो रहा है कि पुलिस के कहने के बावजूद उन्होंने MLC कराने से मना कर दिया. उसके बाद अब भाजपा एक नए षड्यंत्र के साथ सामने आई है.