logo-image
लोकसभा चुनाव

Swati Maliwal Case: स्वाति मालीवाल के आरोप- कितनी सच्चाई, कितनी सियासत

AAP राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल, मारपीट कांड के बाद सुर्खियों में है. अखबारों की फ्रंट हैडलाइन से लगाकर सोशल मीडिया ट्रैंड्स तक हर तरफ उन्हीं की चर्चा है.

Updated on: 18 May 2024, 08:14 AM

नई दिल्ली:

AAP MP Swati Maliwal assault case: AAP राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल, मारपीट कांड के बाद सुर्खियों में है. अखबारों की फ्रंट हैडलाइन से लगाकर सोशल मीडिया ट्रैंड्स तक हर तरफ उन्हीं की चर्चा है. हालांकि दिल्ली पुलिस ने मामले में शिकायत तो दर्ज कर ली है, मगर अब ये मुद्दा सियासी सांचे में ढलता जा रहा है. तमाम राजनीतिक पार्टियों के नेता, चाहे भाजपा हो या कांग्रेस इस मामले में अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. वहीं AAP इस मुद्दे को दरकिनार कर देश में चल रहे लोकसभा चुनाव 2024 पर फोकस कर रही है. हालांकि हो-न-हो इस मुद्दे ने AAP की चुनावी रणनीति पर तीखा प्रहार किया है, जिससे उबरने में काफी वक्त लगने वाला है...
 
गौरतलब है कि, स्वाति मालीवाल द्वारा दिल्ली CM केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के PA विभव कुमार (Who is Bibhav Kumar) पर मारपीट के गंभीर आरोप, विपक्षी पार्टियों के लिए राजनीतिक अवसर बन गया है. बयानबाजी और सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए नेता दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के लोकसभा चुनाव अभियान को जबरदस्त नुकसान पहुंचाने के प्रयास में है. 

जहां एक तरफ भाजपा, AAP पर महिला विरोधी होने का आरोप मढ़ रही है, तो वहीं कांग्रेस के लिए स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. 
 
भाजपा के आरोप.. AAP की सफाई और कांग्रेस कन्फ्यूज

भाजपा के कई नेता सोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट कर स्वाति मालीवाल मामले में सवाल उठा रहे हैं. वहीं हाल ही में AAP द्वारा जारी की गई वीडियो 'स्वाति का सच' पर भी संदेह जता रहे हैं. भाजपा का कहना है कि, पार्टी द्वारा पूरी वीडियो क्यों नहीं जारी की गई? आखिर पार्टी क्या राज छिपाना चाह रही है? वहीं आरोप लगाया कि, PA विभव कुमार महज एक मोहरा है, मामले का असली सरगना तो कोई ओर है..

यहां स्वाति मालीवाल मामले में कांग्रेस का भी रिएक्शन सामने आया है, पार्टी की नेता रागिनी नायक का कहना है कि, महिला पर कोई भी अपराध करे, उस पर सख्त से सख्त कारवाई होनी चाहिये. वहीं दूसरी ओर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का कहना है कि, ये उनकी पार्टी का मामला है और इस बारे में उन्ही लोगों को निर्णय लेना है.  

वहीं AAP ने भी इसपर अपनी सफाई पेश की है, पार्टी नेता आतिशी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, मारपीट का मामला केजरीवाल को फंसाने की साजिश थी, जिसे भाजपा ने अंजाम दिया है. आतिशी ने आरोप लगाया कि, मालीवाल इस "साजिश" का "चेहरा" हैं और उनके द्वारा कुमार के खिलाफ लगाए गए आरोप "निराधार" हैं.