logo-image
लोकसभा चुनाव

जेल में CM केजरीवाल को नहीं दी जा रही इंसुलिन, डाइट चार्ट पर झूठ बोल रही ED: संजय सिंह

Delhi Excise Policy : दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग केस में बंद अरविंद केजरीवाल के स्वास्थ्य और असुविधाओं को लेकर AAP ने ED व जेल प्रशासन पर बड़ा आरोप लगाया है.

Updated on: 19 Apr 2024, 06:00 PM

New Delhi:

Delhi Excise Policy : दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग केस में बंद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लेकर आम आदमी पार्टी ने ईडी और तिहाड़ जेल प्रशासन पर बड़ा आरोप लगाया है. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह का आरोप है कि जेल प्रशासन सीएम अरविंद केजरीवाल के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहा है.  उनका कहना है कि जेल में सीएम केजरीवाल को इंसुलिन नहीं दी जा रही है और उनके डाइट चार्ट को लेकर ईडी झूठ बोल रही है. जबकि जेल नियमों के अनुसार, किसी कैदी के स्वास्थ्य व खानपान की जानकारी सार्वजनिक नहीं की जा सकती है. सबको पता है कि 30 साल से अरविंद केजरीवाल सुगर के मरीज हैं और इंसुलिन लेते हैं. उन्होंने कहा कि जेल में केजरीवाल के साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है. हमें आशंका है कि उनके साथ किसी भी तरह का हादसा हो सकता है. 

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ गहरी साजिश

जेल प्रशासन द्वारा सीएम अरविंद केजरीवाल को इंसुलिन नही मुहैया न कराने और उत्पीड़न करने को लेकर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता की. उन्होंने कहा कि न्यायिक हिरासत के दौरान मैंने कोर्ट में पेशी के समय कहा था कि अरविंद केजरीवाल के खिलाफ गहरी साजिश चल रही है. उस समय मेरे बयान पर आपत्ति की गई थी.  उन्होंने कहा कि जेल में तीन बार के निर्वाचित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है. केजरीवाल से उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल और पंजाब के सीएम भगवंत मान की मुलाकात आतंकवादियों की तरह कराई जाती है.

जेल प्रशासन व ईडी पर बड़ा आरोप

संजय सिंह ने कहा कि ईडी और जेल के अधिकारी मिलकर अरविंद केजरीवाल के बारे में षड़यंत्र पूर्ण गहरी साजिश के तहत मीडिया में भ्रामक व झूठी खबरें फैलाते हैं. जेल के नियमों के मुताबिक, किसी भी कैदी के बारे में उसके स्वास्थ्य और खानपान से संबंधित कोई भी जानकारी सार्वजनिक नहीं की जा सकती है. ईडी ने गुरुवार को किस आधार पर अरविंद केजरीवाल के झूठे डाइट चार्ज को मीडिया में प्रचारित करवाया. इसके पीछे क्या साजिश है? क्या जेल प्रशासन से मिलकर ईडी केजरीवाल को किसी बहाने जहर देकर मारने की साजिश कर रहे हैं. क्योंकि ईडी ने जो कल मीडिया में प्रचारित किया, वो पूरी तरह से झूठ था. 

राष्ट्रपति और चुनाव आयोग से मिलकर करेंगे शिकायत

सांसद संजय सिंह ने कहा कि हम जल्द ही भारत के राष्ट्रपति और चुनाव आयोग से अरविंद केजरीवाल की जिंदगी के साथ हो रहे खिलवाड़ की शिकायत करेंगे.  हमारे नेता को बदनाम करने और उनकी जिंदगी से खिलवाड़ करने की साजिश में शामिल जेल प्रशासन, एलजी ऑफिस और ईडी के अधिकारियों के निलंबन की मांग करेंगे. ये लोग मजाक बना रखा है, तभी केजरीवाल को इंसुलिन की दवा न देकर उनकी जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं और उनका मजाक उड़ा रहे हैं. 12 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की शुगर 320 थी. इसी तरह, 13 अप्रैल को 270, अप्रैल को 300, 15 अप्रैल को 300, 16 अपैल को 250 और 17 अप्रैल को 280 थी. शुगर की हमेशा मॉनिटरिंग के लिए कोर्ट से अनुमति है. अरविंद केजरीवाल किसी भी समय अपनी शुगर चेंज कर सकते हैं. इसके बाद भी जेल प्रशासन इंसुलिन क्यों नहीं दे रहा है. यह अपराधिक कृत्य है.