logo-image
लोकसभा चुनाव

रामनवमी के पर्व पर AAP ने लॉन्च की 'Aapka Ram Rajya' वेबसाइट, सौरभ बोले- 9 साल से रामराज्य पर चल रहा था काम

आप मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार 9 साल से रामराज्य की अवधारणा पर काम कर रही थी, दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर ये काम शुरू किया गया था

Updated on: 17 Apr 2024, 06:46 PM

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी ने राम नवमी के मौके पर aapkaa ram rajya नाम से वेबसाइट को लांच किया है. इस मौके पर आप मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि अरविंद केजरीवाल सरकार 9 साल से रामराज्य की अवधारणा पर काम कर रही थी. उन्होंने बताय कि जब अरविंद केजरीवाल जेल से बाहर थे तो उनके निर्देश पर इस वेबसाइट का काम आरंभ किया गया था. जब भी राम राज्य की बात होती तो यह चर्चा होती है कि कैसा राम राज्य होना चाहिए. राम राज्य को लेकर गोस्वामी तुलसीदास ने रामायण में लिखा है कि राज्य ऐसा होना चाहिए, जहां पर हर किसी को न्याय मिले. जहां पर धर्म का पालन किया जाता हो.

आप नेता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने जो राज्य बनाया उसमें अच्छी शिक्षा अच्छा इलाज, बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा मुफ्त पानी, मुफ्त बिजली महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा दी. यह सारी चीज हैं जो राम राज्य की तरफ किसी राज्य को ले जाती है. इस वेबसाइट में हजारों लोगों के बयान शामिल हैं. उन्होंने आप सरकार के कार्यकाल को सराहा है.  

दिल्ली के लोगों को परेशान करने की कोशिश कर रहे एलजी

उप राज्यपाल इस बात को जानते हैं कि सीएम जेल में हैं और उन्होंने पत्र जो लिखा वह उनको मिलेगा नहीं? बावजूद वह ऐसे पत्र लिखकर मीडिया को बता रहे हैं कि उनके कहने पर काम नहीं हो रहा. जबकि हकीकत में दिल्लीवासियों को परेशान करने की कोशिश की जा रही है. आप मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा 'मैंने जीवन में इससे निचले स्तर की राजनीति नहीं देखी है. इस तरह पत्र लिखने का क्या मतलब है. यह सिर्फ कोरी राजनीति है. जल विभाग के अंदर अफसर जानबूझकर षड्यंत्र करके दिल्ली के लोगों को परेशान करने की कोशिश कर रहे हैं.'

आप मंत्री सौरभ भारद्वाज ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा 'बार-बार पार्टी कार्यकर्ता आम जनता से 400 सीट की डिमांड कर रहे हैं. ऐसा इसलिए है कि देश में बड़े बदलाव किए जा सकें. मैं पूछना चाहता हूं कि जब आपकी सरकार 272 पर बन जाएगी तो आपको 400 सीट की क्यों जरूरत पड़ रही है? भाजपा संविधान बदलना चाहती है और यह बात खुद मोहन भागवत कई वर्ष पहले कह चुके हैं. बीजेपी के नेता बताते हैं कि संविधान से उन्हें समस्या है और संविधान बदलेंगे और देश में चुनाव प्रक्रिया को बदलेंगे.'