News Nation Logo
Banner

कालिंदी कुंज मार्ग बंद होने से रोज लेट पहुंचता था ऑफिस, छोड़नी पड़ी नौकरी

कालिंदी कुंज मार्ग ((Kalindi Kunj Road) बंद होने की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. अब खबर ये आ रही है कि कालिंदी कुंज मार्ग बंद होने की वजह से ही एक शख्स को अपनी नौकरी तक छोड़नी पड़ी है.

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 22 Jan 2020, 11:53:54 AM
कालिंदी कुंज रोड बंद होने के वजह से छोड़नी पड़ी नौकरी

कालिंदी कुंज रोड बंद होने के वजह से छोड़नी पड़ी नौकरी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कालिंदी कुंज मार्ग ((Kalindi Kunj Road) बंद होने की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. अब खबर ये आ रही है कि कालिंदी कुंज मार्ग बंद होने की वजह से ही एक शख्स को अपनी नौकरी तक छोड़नी पड़ी है. कालिंदी कुंज मार्ग के बंद होने की वजह से घर से ऑफिस तक का सफर काफी लंबा हो गया, लेकिन इस वजह से उन्हें शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा. इसलिए इस सॉफ्टवेयर इंजीनियर को नौकरी छोड़ने का फैसला लेना पड़ा.
नवभारत टाइम्स में छपी रिपोर्ट के अनुसार, एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रुप में कार्यरत प्रशांत ग्रेटर नोएडा में रहते है और उन्हें ऑफिस जाने के लिए करीब 40-45 मिनट लगते थे. सब कुछ बड़े ही आराम से चल रहा था. लेकिन प्रशांत की परेशानी तब बढ़ी जब से कालिंदी कुंज जब से बंद हुआ. अब आलोक को ऑफिस पहुंचने में 3 से साढ़े 3 घंटे लगने लगे. काफी कोशिश की समय से ऑफिस पहुंचने की, लेकिन जाम इतना कि रोज लेट पहुंचते थे. 37 दिन से हाफ डे की अटेंडेंस लग रही थी.

इस परेशानी की वजह से प्रशांत की सैलरी आधी कर दी गई लेकिन सफर का खर्च दोगुना ही रहा. 6-7 घंटे रोड पर बीतने लगा, उसके बाद 9 घंटे की नौकरी. इतनी मेहनत के बाद भी सैलरी आधी मिल रही थी. ऐसे में जॉब कर पाना अब संभव नहीं हो पा रहा. ये वाकया घटा है फरीदाबाद के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रशांत के साथ.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में मजबूत हो रही भाजपा, आम आदमी पार्टी के जनाधार में गिरावट : सर्वे

कालिंदी कुंज मार्ग बंद होने के बाद उन्हें वैकल्पिक रास्तों से ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित आईटी कंपनी तक पहुंचना कठिन हो गया. सुबह आते समय जाम में फंसने से रोज लेट हो जा रहे थे. कंपनी ने उनकी परेशानी नहीं सुनी और हाफ डे की अटेंडेंस लगने लगी. पूरे महीने नौकरी की, लेकिन सैलरी आधी मिली. पहले ऑफिस तक आने में 1500 से 2000 रुपये तक खर्च होते थे, लेकिन कालिंदी कुंज रोड बंद होने से यह दोगुने से भी ज्यादा हो गए. कुछ दिन इंतजार किए कि शायद परेशानी समझते हुए रास्ता खोलने पर फैसला ले लिया जाए. लेकिन, ऐसा नहीं होने पर सोमवार को उन्होंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया.

यह भी पढ़ें: टीम इंडिया को मिल गया एमएस धोनी का विकल्‍प, ऋषभ पंत नहीं, इस खिलाड़ी का नाम

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में शाहीन बाग में चल रहे धरने की वजह से कालिंदी कुंज मार्ग बंद है. 15 दिसंबर को जामिया नगर में हुए प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस ने रास्ता बंद किया था. अब फरीदाबाद-दिल्ली जाने वाले नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेसवे और डीएनडी के रास्ते सफर कर रहे हैं.

First Published : 22 Jan 2020, 10:49:16 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×